image

नई दिल्लीः चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य करार दिए जाने की सिफारिश के सिलसिले में आज आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की किस्मत पर फैसला आ सकता है। बता दें कि चुनाव आयोग की इस सिफारिश पर दिल्ली हाई कोर्ट ने शुक्रवार को स्टे देने से इनकार कर दिया था और उसके बाद आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इस मसले पर आदेश जारी कर सकते हैं। दरअसल, शुक्रवार को चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति को आप के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने की सिफारिश की है। इन विधायकों को दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने संसदीय सचिव नियुक्त किया था, जिन पर ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का आरोप है।

चुनाव आयोग की सिफारिश के बाद आम आदमी पार्टी ने दिल्ली हाई कोर्ट में अपील की थी और स्टे की गुहार लगाई थी। लेकिन हाई कोर्ट ने आप विधायकों को राहत देने के लिए कोई भी अंतरिम आदेश देने से मना कर दिया। आप की अपील पर हाई कोर्ट ने  कहा, 'आपके पास उच्च न्यायालय से रोक नहीं है, लेकिन आपने चुनाव आयोग से कहा कि वह मामले को नहीं छुए क्योंकि इस मामले पर उच्च न्यायालय विचार कर रहा है। आपका आचरण इस तरह का है कि आपने चुनाव आयोग के पास जाने का खयाल नहीं रखा। उच्च न्यायालय ने आपको चुनाव आयोग के पास जाने से नहीं रोका था।' कोर्ट ने ये भी कहा, 'आपने उच्च न्यायालय में अपनी याचिकाओं के लंबित होने को कवच के तौर पर इस्तेमाल किया है।' 

दरअसल, हाई कोर्ट पिछले साल अगस्त में विधायकों द्वारा दायर याचिकाओं का उल्लेख कर रही थी। इन याचिकाओं में विधायकों ने कथित तौर पर लाभ के पद पर उनके रहने के खिलाफ शिकायत पर सुनवाई जारी रखने के चुनाव आयोग के फैसले को चुनौती दी थी। चुनाव आयोग की इस सिफारिश के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर लिखा कि इतिहास गवाह है, अंत में जीत सच्चाई की ही होती है। लेकिन अब गेंद राष्ट्रपति के पाले में है। ऐसे में चुनाव आयोग और हाई कोर्ट से झटका खाने के बाद आम आदमी पार्टी को राष्ट्रपति की ओर से क्या आदेश मिलता है, ये देखने वाली बात होगी।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: president ramnath kovind nay take decision on aap 20 legislators today

More News From national

Next Stories
image

free stats