image

अमृतसर: महानगर पुलिस की ओर से मां-बेटी के दोहरे हत्याकांड की गुत्थी अभी सुलझी हुई थी कि एक और मामला सामने आ गया है। सुल्तानविंड रोड पर हुए वारदात के बाद लोगों में दहशत का माहौल है। शनिवार सुबह गुरनाम नगर सुल्तानविंड रोड पर रहने वाली सुखबीर कौर उर्फ स्वीटी के घर एक महिला आई और उसने खाना खाने की इच्छा जाहिर की। स्वीटी को इस महिला की सेवा का फल मौत के रूप में मिला। महिला ने स्वीटी को दर्द की दवा दी, जो जहर निकला। पुलिस की ओर से मामले की जांच की जा रही है। मरने से पहले स्वीटी ने एक नोट लिखा जिससे घटना का खुलासा हुआ। गुरनाम नगर नजदीक गुरुद्वारा साहिब रहने वाली सुखबीर कौर (50) उर्फ स्वीटी पत्नी कुलवंत सिंह धार्मिक प्रवृत्ति की थी। वह रोजाना गुरु घर में सेवा करने जाती थी। इलाके के बच्चों को धर्म और गुरबाणी के साथ जोड़ने के लिए अपने ही घर में फ्री कीर्तन की सिखलाई देती थी। शनिवार सुबह 11 बजे एक महिला उसके दरवाजे पर आई और उसने कहा कि उसे भूख लगी है। स्वीटी उसे घर के अंदर ले गई और खाना परोसा। खाना खाने के बाद महिला ने कहा कि वह दर्दों की दवा देती है। स्वीटी ने उससे डेढ़ सौ रुपए में दर्द की दवा खरीदी। महिला के जाने के बाद स्वीटी ने जब दवा खाई तो उसकी हालत बिगड़ गई। इससे पहले की वह कुछ बोल सके, उसके मुंह से कोई बात नहीं निकली। उसने तुरंत एक कागज पर अपने साथ हुई पूरी वारदात को लिख दिया। परिजनों ने उसे तुरंत इलाज के लिए चाटीविंड गेट गुरु रामदास अस्पताल में दाखिल करवाया। वहां पर 2 घंटे बाद ही इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पहले तो परिजनों द्वारा पुलिस कार्रवाई करवाने से इंकार कर दिया गया, मगर मामला संगीन होने के कारण पुलिस द्वारा मामले की जांच शुरू की गई। पुलिस का कहना है कि मामला मौत का है, इसलिए शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाया जाएगा और जो भी हकीकत सामने आएगी, उसके आधार पर केस दर्ज किया जाएगा। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: poison on the name of medicine womans death

More News From amritsar

Next Stories
image

free stats