image

नई दिल्लीः प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धनशोधन निवारण अधिनियम के तहत दर्ज मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा की अग्रिम जमानत रद्द करने के संबंध में दिल्ली उच्च न्यायालय में शुक्रवार को एक याचिका दाखिल की हैं। ईडी ने वाड्रा पर लंदन के 12 ब्रिस्टन स्क्वायर में 10 लाख 90 हजार पाउंड की लागत से खरीदी गयी संपत्ति में धन लगाने का आरोप है। इस संपत्ति का मालिक वाड्रा को बताया जाता है।

ऐसा आरोप है कि स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी एलएलपी के कर्मचारी मनोज अरोड़ा की इस मामले में महत्वपूर्ण भूमिका रही है। ईडी के दावे के मुताबिक अरोड़ा के पास वाड्रा की इस अघोषित संपत्ति को लेकर पूरी जानकारी है तथा इसको लेकर धन एकत्र करने में भी उसने अहम भूमिका निभाई।

एजेंसी के मुताबिक अरोड़ा ने वाड्रा की अघोषित संपत्ति के लिए विदेशों में धन की व्यवस्था की और उसका उपयोग संयुक्त अरब अमीरात की कुछ जुड़ी एजेंसियों के जरिए किया गया और हरियाणा के गुरुग्राम में भूमि सौदों में कथित अनियमितताओं के लिए किया गया।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Plea In Delhi High Court To Cancel Vadra Bail

More News From national

Next Stories
image

free stats