image

इंडियन कोस्ट गार्ड के हैलीकाप्टर की एमरजैंसी लैंडिंग के दौरान हुई दुर्घटना के बाद घायल हुई करनाल की बेटी सहायक कमांडैंट पैनी चौधरी की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। बेटी की मौत से परिवार व शहर में शोक छा गया। उसने 17 दिन बाद मुम्बई के नेवी अस्पताल में मंगलवार को अंतिम सांस ली। इंडियन नेवी के अधिकारी उसका शव लेकर करनाल पहुंचेंगे जिसके बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा। 10 मार्च को भारतीय तटरक्षक काहैलीकाप्टर रायगढ़ जिले के समीप एमरजैंसी लैंडिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिससे पैनी चौधरी गंभीर रूप से घायल हो गई थी। उसे उपचार के लिए नेवी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। हादसे के बाद ही वह कोमा में चली गई थी। मंगलवार को जैसे ही बहादुर बेटी की मौत की खबर मिली तो उसके परिवार व रिश्तेदारों में मातम छा गया।  पता चला है कि जैसे ही कैप्टन चौधरी ने सबसे पहले क्रैश हैलीकाप्टर से उतरने का प्रयास किया लेकिन रोटर ब्लेड जो धीमी गति से घूम रहा था वह उसके हैलमेट से जा टकराया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी। जब हैलीकाप्टर का इंजन बंद हो गया तो पायलट व सह-पायलट ने समुद्र में गिरने से रोकने के लिए हैलीकाप्टर को घुमाने के लिए रोटर के मूवमैंट का इस्तेमाल किया। उन्होंने हैलीकाप्टर को समुद्र तट के रेतीले हिस्से पर उतारने की कोशिश की लेकिन यह नहीं हो सका। उसके बाद हैलीकाप्टर एक चट्टानी पैच पर उतरा और दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: pari chaudhary was injured when the helicopter crashed during emergency landing

Next Stories
image

free stats