image

अगर आज से जैम लागू हुआ तो दवा स्टाक हो सकता है खत्म, बढ़ सकती है मरीजों की परेशानी
 सरकारी मैडीकल कालेजों एवं अस्पतालों में आनलाइन दवा खरीदने की प्रक्रिया को लागू किए जाने के बाद अब राज्य सरकार एवं स्वास्थय विभाग ने प्रदेश के सभी सिविल और नागरिक अस्पतालों में भी आनलाइन दवा खरीदने के दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं जिसको लेकर चिकित्सकों की परेशानी बढ़ गई है। विभाग द्वारा पत्र जारी कर आज से ही पूरानी व्यवस्था को बंद कर आनलाइन खरीदने का फरमान तो जारी कर दिया गया है मगर आनलाइन की खरीद कैसे होगी और जब तब आनलाइन दवा अस्पतालों में पहूंच नहीं जाती इस दौरान अगर स्टाक खत्म हो गया तो मरीजों को विकल्प के तौर पर किस तरह से संभाला जाएगा यह अभी नहीं बताया गया। बीते दिन सोनीपत के सिविल अस्पताल को विभाग द्वारा पत्र मिला है जिसमें जीईएम यानि जैम यानि गवर्नमैंट ई मैडिसन का हवाला देकर 28 मार्च को सीएमओ द्वारा आफलाइन दवा न खरीदने के आदेश जारी किए गए हैं तथा कहा गया है कि भविष्य में जैम के माध्यम से दवा खरीदी जाएं।
ध्यान रहे कि सरकारी अस्पतालों में कुछ टेस्ट और दवाएं मरीजों को मुफ्त दी जाती रही हैं। 5000 रुपए तक की दवा खरीदने की पावर एसएमओ को दी जाती है जबकि 5000 से अधिक की दवा सीएमओ की परमिशन के बाद खरीदी जाने का प्रावधान है जिसके बिल का भुगतान दवा एजैंसी एवं मेडिसन डिस्ट्रीब्यूटर को बाद में चैक द्वारा कर दिया जाता है जिससे अस्पताल प्रशासन समय-समय पर मरीजों की संख्या के मुताबिक दवा खरीदता रहता है। ऐसे में अगर जैम द्वारा खरीदने की प्रक्रिया को जल्द से लागू नहीं किया तो मरीजों को दवा मिलने में लंबे समय का इंतजार करना होगा। जैम के अनुसार पहले सीएमओ को आनलाइन खरीद एजैंसियों को आवेदन करना होगा जिसमें एजैंसी एक माह के लिए दवा भेजने के लिए बाध्य होगी। हांलाकि इस दौरान अगर अस्पताल में दवा का स्टाक खत्म हो गया तो चिकित्सक दवा नहीं खरीद सकेंगे। एजैंसियों की पेमैंट की भुगतान किस तरीके से होनी है यह अभी दिशा-निर्देश जारी नहीं हुए हैं। ऐसे में अस्पताल प्रशासन को अभी से पसीना-पसीना होना पड़ रहा है कि आगामी दिनों में मरीजों को दवा देने की प्रक्रिया किस तरह से अपनाई जाएगी यह तो आनलाइन खरीदने की प्रक्रिया से जब गुजरना पड़ेगा तभी सारी स्थिति स्पष्ट हो सकती है। इस बारे में जब सीएमओ डा जेसी पुनिया से बात करने की कोशिश की तो वे चंडीगढ़ किसी बैठक में थे तथा उन्होंने वंहा से आने के बाद बात करने की बात कही।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: now preparing to buy medicine from jam website at civil hospital

More News From haryana

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats