image

मुंबई : केंद्रीय सड़क परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने दक्षिण मुंबई के नरीमन प्वाइंट में तैरते जेट्टी के निर्माण में नौसेना की ओर से अड़चन पैदा करने को लेकर आज नौसेना को खूब खरी-खरी सुनाई।
      श्री गडकरी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस के साथ आज अंतरराष्ट्रीय क्रूज टर्मिनल का शिलान्यास किया।
        शिलान्यास कार्यक्रम के बाद श्री गडकरी ने कहा कि इस जेट्टी के निर्माण के लिए भारतीय नौसेना का पश्चिम नेवल कमान ने सुरक्षा कारणों से हरी झंडी नहीं दिखायी। हाल ही में बम्बई उच्च न्यायालय ने इस जेट्टी के निर्माण के लिए अनुमति देने से मना कर दिया था।
        श्री गडकरी ने कहा कि फेरी और सेतु के निर्माण से सुरक्षा को कोई खतरा नहीं था। उल्लेखनीय है कि पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से रश्मि डेवलपमेंट प्राइवेट लिमिटेड नाम की एक निजी फर्म यह निर्माण कार्य कराना चाहती है। 

 

उन्होंने कहा कि नौसेना के अधिकारियों को दक्षिण मुंबई में फ्लैट क्यों चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्हें यहां एक इंच भी जमीन नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि नौसेना को मलाबार हिल (दक्षिण मुंबई) में रहने की क्या जरुरत है। नौसेना का काम देश की सीमा की रक्षा करना है।
       श्री गडकरी ने कहा, नौसेना के लोग हमारे पास आये थे कि उन्हें दक्षिण मुंबई में घर बनाने के लिए जमीन दी जाय लेकिन हमने उन्हें जमीन देने से मना कर दिया। श्री फडनवीस ने कहा कि क्रूज टर्मिनल बनने से महाराष्ट्र की आय बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि 300 करोड़ रुपये की लागत से एक आधुनिक क्रूज टर्मिनल बनाया जायेगा जहां प्रतिवर्ष लगभग सात लाख पर्यटक इसका उपयोग करेंगे और यह टर्मिनल 2019 तक बन कर तैयार हो जायेगा।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: nitin gadkari recalls the navy for creating obstacles in development work

More News From national

Next Stories
image

free stats