image

तरनतारन : किर्गिस्तान में हुई एशियन रेसलिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड मैडल जीतने वाली नवजोत कौर ने अपने परिवार के साथ-साथ पूरे देश का भी नाम रोशन किया है। तरनतारन के छोटे से गांव बागड़ियां में पैदा हुई नवजोत कौर को आज पूरा देश जानता है। गोल्ड मैडल जीतने वाली नवजोत कौर का सफर काफी कठिनाइयों से भरा रहा है। दैनिक सवेरा से बात करने पर नवजोत के पिता सुखचैन सिंह ने बताया कि जब नवजोत कौर पैदा हुई थी तो घर वाले रो रहे थे, क्योंकि सुखचैन सिंह की पहले भी एक बेटी थी, लेकिन नवजोत के पिता का कहना था कि यही बेटी एक दिन उनका नाम पूरी दुनिया में जरूर रोशन करेगी।

नवजोत की बहन नवजीत कौर भी राष्ट्रीय स्तर की रेसलर है और उसीने नवजोत को पहलवानी के गुर भी सिखाये। नवजीत ने बताया कि बचपन में दोनों बहनें सुबह 2 30 बजे उठ कर प्रैक्टिस के लिए जाया करती थीं और बाद में वहीं से स्कूल जाती थीं। आज नवजोत को इस मुकाम पर देख कर बहन को बहुत ज़्यादा खुशी है। अब परिवार का सपना है कि नवजोत ओलंपिक में भी देश के लिए गोल्ड मैडल लेकर आए। नवजोत के घर वालों को बेटी के घर पहुंचने का बेसबरी से इंतजार है। नीचे देखें नवजोत कौर के परिवार से बातचीत का वीडियो -

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: navejots father said i knew the daughter would illuminate her name

More News From sports

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats