image

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार प्रयोग होने वाले प्लास्टिक के खिलाफ 2 अक्टूबर से एक ‘‘नया जन-आंदोलन’’ शुरू करने का रविवार को आह्वान किया। पीएम मोदी ने रेडियो पर प्रसारित अपने मासिक संबोधन ‘मन की बात’ में कहा कि जब देश राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती मना रहा है, तब ऐसे में ‘‘ हम प्लास्टिक के खिलाफ एक नया जन-आंदोलन आरंभ करेंगे।’’
उन्हाेंने अपने संबाेधन में भगवान श्री कृष्ण और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद किया। इसके अलावा उन्हाेंने स्वच्छता अभियान, फिट इंडिया समेत कई मुद्दों पर अपनी बात रखी हैं। 
 

2 अक्टूबर से प्लास्टिक के खिलाफ ‘‘नया जन-आंदोलन’’ शुरू करने का आह्वान


पर्यावरण को बचाने के लिए प्लास्टिक कचरे के उचित संग्रह एवं भंडारण और निपटारे के प्रयासों का आह्वान किया। पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ में एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने की अपील की, जिसे पर्यावरण संरक्षण के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है। इस बार 2 अक्टूबर को जब बापू की 150वीं जयंती मनाएंगे, तो इस अवसर पर हम उन्हें न केवल खुले में शौच से मुक्त भारत समर्पित करेंगे बल्कि उस दिन पूरे देश में प्लास्टिक के खिलाफ एक नए जन-आंदोलन की नींव रखेंगे। मैं समाज के सभी वर्गों से, हर गांव, कस्बे में और शहर के निवासियों से अपील करता हूं, करबद्ध प्रार्थना करता हूं कि इस वर्ष गाँधी जयंती, एक प्रकार से हमारी इस भारत माता को प्लास्टिक कचरे से मुक्ति के रुप में हम मनाए। 2 अक्टूबर विशेष दिवस के रुप में मनाएं।
 

हर देशवासी कम से कम एक व्यक्ति को कुपोषण से निकाले बाहर
 

पीएम मोदी ने देशवासियों का आज आह्वान किया कि वे अगले माह पोषण अभियान में भाग लें और हर देशवासी कम से कम एक कुपोषित व्यक्ति को कुपोषण से बाहर निकालने में योगदान करें। उन्होंने कहा कि हमारी संस्कृति में अन्न की बहुत अधिक महिमा रही है। यहाँ तक कि हमने अन्न के ज्ञान को भी विज्ञान में बदल दिया है। संतुलित और पोषक भोजन हम सभी के लिए जरुरी है। विशेष रुप से महिलाओं और नवजात शिशुओं के लिए, क्योंकि, ये ही समाज के भविष्य की नींव है। ‘पोषण अभियान’ के अंतर्गत पूरे देशभर में आधुनिक वैज्ञानिक तरीकों से पोषण को जन-आन्दोलन बनाया जा रहा है।

भारत ने समय से पहले दोगुनी की बाघों की संख्या


पीएम मोदी ने बाघों को वनों का संरक्षक बताते हुए कहा कि भारत ने 9 वर्षों में बाघों की संख्या दोगुनी करने में सफलता पाई है और इस समय 2967 बाघ हो गए हैं। उन्होंने कहा कि बाघों को लेकर 2010 में रुस के सेंट पीटर्सबर्ग में टाइगर समिट हुआ था। इसमें दुनिया में बाघों की घटती संख्या को लेकर चिंता जाहिर करते हुए एक संकल्प लिया गया था कि 2022 तक पूरी दुनिया में बाघों की संख्या को दोगुना करना है, लेकिन यह नया भारत है, जहां हम लक्ष्यों को जल्द से जल्द पूरा करते हैं। हमने 2019 में ही अपने यहाँ बाघों की संख्या दोगुनी कर दी। उन्होंने कहा कि जब भी हम प्रकृति और वन्य-जीवों की बात करते हैं तो केवल संरक्षण की ही बात करते हैं।


‘मैन वर्सेस वाइल्ड’ का भी किया जिक्र


पीएम माेदी ने ‘मैन वर्सेस वाइल्ड’ का भी ज़िक्र किया। उन्हाेंने कहा कि इस शो से मैं न सिर्फ हिंदुस्तान दुनिया भर के युवाओं से जुड़ गया हूं। मैंने कभी सोचा नही था कि युवा दिलों में इस प्रकार से मेरी जगह बन जाएंगी। मैंने कभी सोचा नही था कि हमारे देश के और दुनिया के युवा कितनी विविधता भरी चीजों की तरफ ध्यान देते हैं। पीएम माेदी ने डिस्कवरी के इस कार्यक्रम के बारे में बताया कि प्रस्तोता बियर ग्रिल्स और उनके बीच संवाद में उच्च प्रौद्योगिकी एवं त्वरित अनुवाद का इस्तेमाल किया गया। इससे उनके एवं प्रस्तोता के बीच संवाद आसान हो गया था। उन्होंने कहा कि इस शो के बाद बड़ी संख्या में लोग जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क के विषय में चर्चा करते नजर आए हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे भी प्रकृति और जन्य-जीवों से जुड़े स्थलों पर जरुर जाएं।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Modi's New Mantra In Mann Ki Baat, From Fit India To Mass Movement

More News From national

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats