image

 चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 14 नवम्बर को सिंगापुर में आयोजित क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते की दूसरी शिखर बैठक में भाग लिया। दस आसियान देशों, दक्षिण कोरिया, जापान, ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और भारत के नेताओं ने भी बैठक में भाग लिया।

   ली खछ्यांग ने कहा कि एक साल पहले हम ने मनिला में प्रथम आरसीईपी समिट का आयोजन किया। इसके बाद विभिन्न पक्षों की मेहनत से 80 प्रतिशत वार्ता से संबंधित कार्य पूरा हो चुका है। हमें सक्रियता से वार्ता के अंतिम अहम दौर से गुजरना  चाहिए ताकि अगले साल समझौता संपन्न हो सके और क्षेत्रीय देशों की जनता का लाभ मिल सके।

बैठक में उपस्थित दूसरे नेताओं का भी मानना है कि अंतर्राष्ट्रीय स्थिति में गैर-वैश्वीकरण और संरक्षणवाद की प्रवृत्ति नजर आ रही है। विभिन्न पक्षों को अधिक प्रयास करते हुए आर्थिक एकीकरण और नियम आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था और स्वतंत्र व्यापार को बढ़ावा देना चाहिये। इसी पृष्ठभूमि में वार्ता से आरसीईपी संपन्न करने का महत्वपूर्ण अर्थ है। विभिन्न पक्षों के नेताओं ने इस बात पर सहमति जताई कि शीघ्रता से वार्ता के जरिये आरसीईपी संपन्न करना विभिन्न पक्षों का समान कर्तव्य है। विभिन्न पक्षों को अतिरिक्त कोशिश करनी होगी। विभिन्न पक्षों को लचीलापन दिखाते हुए, अपनी अपनी आकांक्षा का समन्वय करते हुए एक दूसरे की संवेदनशीलता का समावेश करना चाहिये। ताकि वर्ष 2019 में आरसीईपी वार्ता समाप्त हो सके।

 

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Li Zhchiang addresses regional comprehensive economic partnership agreement

More News From international

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats