image

तिरुवनंतपुरमः केरल की स्वास्थ्य मंत्री के.के. शैलजा ने शनिवार को मीडिया को बताया कि एक पॉजिटिव मामला और 300 से अधिक संदिग्ध मामलों के बाद केरल में निपाह वायरस के दूसरे हमले का डर खत्म हो गया है। शैलजा ने कहा, ‘‘भले ही निपाह का डर खत्म हो गया है और पूरी निगरानी की जरूरत नहीं है, लेकिन स्थिति पर अगले महीने के मध्य तक नजर रखी जाएगी’’

तीन जून को एर्नाकुलम के एक निजी अस्पताल में भर्ती 23 वर्षीय कॉलेज छात्र का निपाह वायरस का टेस्ट पॉजिटिव आया था। तब से, राज्य में स्वास्थ्य अधिकारी वायरस को फैलने से रोकने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे हैं और लगभग दो सप्ताह के बाद शैलजा ने आखिरकार संकेत दे दिया कि अब निपाह का डर खत्म हो गया है।

पिछले साल कोझिकोड और मलप्पुरम जिलों में निपाह के चलते 12 लोगों की मौत के बाद विशेषज्ञों ने चमगादड़ों से नमूने एकत्र किए थे। अब, फ्रूट बैट प्रजाति के चमगादड़ों को घातक वायरस के वाहक के रूप में पहचाना गया है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Kerala Health Minister's statement, the fear of the outbreak of Nipah virus in the state

More News From national

Next Stories

image
free stats