image

पिछले साल कासगंज में भड़की हिंसा को एक साल पूरा होने वाला है। गणतंत्र दिवस के मौके पर फिर से उसी तरह की किसी बी तरह की घटना न हो, इसके लिए पुलिस ने सुरक्षा के प्रबंधों को पुख्ता कर लिया है। लेकिन पिछले साल की गई हिंसा के आरोपियों ने एक बार फिर से लोगों को धमकाने की कोशिश की है। दरअसल, कासगंज हिंसा के आरोपी ने सोशल मीडिया पर एक भड़काऊ तस्वीर पोस्ट की है। इससे आशंका जताई जा रही है कि कहीं फिर से पिछले साल जैसी हिंसा नो हो जाए

Read More  मध्यप्रदेशः सैर पर निकले BJP नेता का खेत में मिला शव

कासगंज के सीओ गबेन्द्र पाल गौतम ने बताया, 'विशाल ठाकुर और अनुकल्प चौहान नामक दो युवकों ने सोशल मीडिया के जरिए शांति भंग करने की कोशिश की है। इन दोनों ने फेसबुक पर रिवॉल्वर के साथ फोटो डालते हुए इस साल भी तिरंगा यात्रा निकालने की चेतावनी दी है। विशाल ने लिखा- फिर आ रहा हूं, जय श्री राम। जबकि जिला मजिस्ट्रेट उनकी लिखित अपील को खारिज कर चुके हैं। सोशल मीडिया पर हथियार की तस्वीर डालना, जाहिर तौर पर उत्तेजित करना तथा पुलिस के नियमों का उल्लंघन है।' 

Read More  आगामी लोकसभा चुनाव लोकतंत्र में देश का विश्वास बहाली का मौका : सोनिया गांधी  

कासगंज के एसएचओ अशोक कुमार ने जानकारी देते हुए बताया, 'विशाल और अनुकल्प के खिलाफ आईपीसी की धारा 151 के तहत केस दर्ज किया गया है। यह दोनों पिछले साल हुई झड़प में भी प्रमुख तौर पर शामिल थे।' विशाल पिछले साल हुई हिंसा में मुख्य आरोपी था। वह संकल्प फाउंडेशन का सदस्य है, जिसका चेयरपर्सन अनुकल्प  है। हिंसा में गोली लगने से जान गंवाने वाला चंदन गुप्ता भी इसी फाउंडेशन का हिस्सा था। 

Read More  खाना लेने के लिए लाइन में लग गया दुनिया का दूसरा सबसे अमीर शख्स

2018 में हुई हिंसा के दौरान सामने आए एक विडियो में चंदन गुप्ता और विशाल ठाकुर तिरंगा यात्रा के दौरान एक बाइक पर सवार नजर आए थे। मुस्लिम ग्रुप से हुए विवाद में भी दोनों बहस करते दिखे थे। बता दें कि गोली लगने से चंदन गुप्ता की मौत के बाद वहां हिंसा भड़क उठी थी। दंगों के बाद ठाकुर और चौहान दोनों ने कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: kasganj violence accused shared provoking post on social media

More News From national

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats