image

भिवानी: गांव रतेरा में रविवार शाम बिदाना जोहड में गिरे 65 वर्षीय ओमसिंह का शव 21 घंटे बाद मिला। शव को निकालने के लिए गोताखारो ने काफी प्रयास तो किया परन्तु सफलता हाथ ना लगता देख पंचायत को हांसी से मछुआरे बुलाए। जिन्होंने बिदाना जोहड में जाल डाल तीन घंटे के अन्दर बुजरुग का शव निकाल दिया। शव सोमवार दोपहर लगभग एक बजे निकाला गया। पुलिस ने शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम करवाने के लिए भिवानी के सामान्य अस्पताल ले गए। घटना रविवार लगभग शाम चार बजे है। जब बिदाना जोहड के पास रहने वाले ओमसिंह का पैर जोहड में फिसल गया।

 


 जोहड़ में भैंसों को पानी पिलाने आए ग्रामीणों ने उसे डूबता देख बचाने का प्रयास किया। परन्तु जब तक उसे निकाल पाते बुजरुग पानी में डूब चुका था। रात आठ बजे तक शव को ढूंढने का प्रयास किया। परन्तु उन्हें बुजरुग नहीं मिला। वही दूसरी तरफ पुलिस प्रशासन, ग्राम पंचायत तथा अन्य ग्रामीणों ने जोहड का साथ वाले खाली जोहड में निकालने की बात कही। जिस पर पंचायत ने जेसीबी बुलवा जोहड की दिवारे तुडवा़ पानी को दूसरी जोहड में शीफट करने का प्रयास तो किया, परन्तु सुबह होने तक पानी पांच फुट ही कम हुआ। जिसे देखते हुए गांव के गोताखारों ने एक बार फिर से प्रयास शुरू किया। 

जिस पर सुबह 10 बजे तक कोई सफलता हाथ नहीं लग पाई। वही दूसरी तरफ हांसी से मछुआरे भी गांव के जोहड़ पर पहुंच गए जिन्होने जोहड में जाल को डाल तीन घंटे बाद शव को बाहर निकाला। जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में ले भिवानी के सामान्य अस्पताल में ले गए। 65 वर्षीय ओमसिंह पांच बच्चों को बाप था। जिसकी दो बेटी तथा तीन बेटे है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: jihad slumped elderly found dead after 21 hours

More News From haryana

Next Stories

image
free stats