image

सिडनी : टीम इंडिया ने वो कर दिखाया जिसे अभी तक कोई नहीं कर पाया। भारत ने आस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर सीरीज अपने नाम की। उसने 71 साल के लंबे इंतजार को खत्म करते हुए आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार टेस्ट सीरीज जीतकर अपने क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अध्याय जोड़ा। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर चौथा और अंतिम टेस्ट मैच खराब मौसम और बारिश के कारण ड्रा पर खत्म हुआ और इस तरह से भारत सीरीज को 2-1 से अपने नाम करने में सफल रहा। इसके साथ ही उसने बोर्डर-गावस्कर ट्राफी भी अपने पास बरकरार रखी। भारत ने 2017 में अपने घरेलू मैदानों पर श्रृंखला 2-1 से जीतकर यह ट्राफी जीती थी।

READ NEWS : INDvsAUS : आस्ट्रेलिया में टीम इंडिया की फतह, सीरीज कब्जाकर बदल दिया इतिहास

पहली बार 1947-48 में किया था आस्ट्रेलिया का दौरा

भारत ने स्वतंत्रता मिलने के कुछ दिन बाद पहली बार 1947-48 में लाला अमरनाथ की अगुवाई में आस्ट्रेलिया का दौरा किया था। तब उसका सामना सर डान ब्रैडमैन की अजेय आस्ट्रेलियाई टीम से था। तब से लेकर अब जाकर भारत का श्रृंखला जीतने का इंतजार विराट कोहली की टीम ने खत्म किया। भारत के पास श्रृंखला 3-1 से जीतने का मौका था, लेकिन बारिश ने उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। भारत ने अपनी पहली पारी सात विकेट पर 622 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी जिसके जवाब में आस्ट्रेलिया 300 रन पर आउट हो गया और उसे अपनी धरती पर पिछले 30 साल में पहली बार फालोआन के लिये उतरना पड़ा।



बारिश की वजह से पांचवें दिन का खेल नहीं हो पाया

आस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में बिना किसी नुकसान के छह रन बनाये। बारिश की वजह से पांचवें और अंतिम दिन का खेल नहीं हो पाया और अंपायरों ने लंच के बाद मैच ड्रा करने का फैसला किया। भारतीय टीम ने एससीजी पर विजय का जश्न बनाया तथा भारत और आस्ट्रेलिया के प्रशसंकों ने तालिया बजाकर उनका साथ दिया।

READ NEWS : आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की इस बात पर नाराज दिखे पोंटिंग, कह डाली ये बड़ी बात

यह भारतीय क्रिकेट के लिये ऐतिहासिक क्षण है, सुनील गावस्कर

भारत के महानतम सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने कहा, ‘‘यह भारतीय क्रिकेट के लिये ऐतिहासिक क्षण है।’’ आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी इतनी कमजोर थी कि अगर पूरे दिन का खेल हुआ होता तो भारत चौथा टेस्ट मैच भी जीत जाता। आस्ट्रेलिया को निश्चित तौर पर प्रतिबंधित स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर की कमी खली, लेकिन इससे कोहली और उनकी टीम की उपलब्धि को कम करके नहीं आंका जा सकता है। इस जीत को भारत की विदेशों में ऐतिहासिक विजय में शामिल किया जाएगा। इसे अजित वाडेकर की टीम की 1971 में वेस्टइंडीज और इंग्लैंड में, कपिल देव की टीम की 1986 में इंग्लैंड में और राहुल द्रविड़ की अगुवाई वाली टीम की 2007 में इंग्लैंड में जीत की बराबरी पर रखा जाएगा।

READ NEWS : ऑस्ट्रेलिया में 64 साल बाद ये इतिहास रचने वाले कुलदीप बने दूसरे चाइनामैन...

भारत ने एडीलेड में 31 रन से जीता था पहला टेस्ट मैच

भारत ने चौथे टेस्ट मैच से पहले श्रृंखला में 2-1 की अजेय बढ़त बना ली थी। भारतीय टीम ने एडीलेड में पहला टेस्ट मैच 31 रन से जीता था। आस्ट्रेलिया ने पर्थ में दूसरे टेस्ट मैच में 146 रन से जीतकर वापसी की लेकिन भारत ने मेलबर्न में तीसरा मैच 137 रन से अपने नाम करके इतिहास रचने की तरफ मजबूत कदम बढ़ाये थे। रविवार भी पूरे दिन बादल छाये रहे और आज सुबह भी स्थिति नहीं बदली। खेल स्थानीय समयानुसार सुबह दस बजे शुरु होना था लेकिन बारिश आने से इसकी संभावना समाप्त हो गयी। अंपायरों ने आखिर में स्थानीय समयानुसार दो बजकर 30 मिनट पर मैच ड्रा करने का फैसला किया।

READ NEWS : INDvsAUS : 31 साल में जो नहीं कर पाए विश्व के बाकी देश वो टीम इंडिया ने कर दिखाया

चेतेश्वर पुजारा और ऋषभ पंत ने खेली शानदार पारी

मैच के पहले दो दिन भारतीय बल्लेबाज छाये रहे। चेतेश्वर पुजारा ने 193 और ऋषभ पंत ने नाबाद 159 रन बनाये। आस्ट्रेलिया ने तीसरे दिन खराब रोशनी के कारण खेल जल्दी समाप्त किये जाने तक छह विकेट पर 236 रन बनाये। इसके बाद अगले दिन उसकी टीम 300 रन पर आउट हो गयी। भारत की तरफ से कुलदीप यादव ने 99 रन देकर पांच विकेट लिये। भारत ने आस्ट्रेलिया को फालोआन के लिये आमंत्रित किया लेकिन खराब रोशनी के कारण चौथे दिन का खेल भी जल्द समाप्त करना पड़ा। आस्ट्रेलिया ने तब बिना किसी नुकसान के छह रन बनाये थे।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: INDvsAUS : team india ends the 71 year long wait

More News From sports

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats