image

चीन-भारत व्यापारिक रिश्तों में हाल के दिनों में मजबूती देखने को मिली है। चाय, चावल और अन्य उत्पादों के चीन में प्रवेश को लेकर चीनी और भारतीय निवेशकों के बीच कई बैठकें हो चुकी हैं। इसी क्रम में सोमवार को बीजिंग में दूसरे स्टार्ट-अप इंडिया निवेश सेमिनार का आयोजन हुआ। इस दौरान दोनों पक्षों ने चीन और भारत के बीच निवेश बढ़ाने को लेकर चर्चा की। जिसमें दो भारतीय निवेशकों के अलावा विभिन्न क्षेत्रों की 20 भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों और तमाम चीनी निवेशकों ने हिस्सा लिया। इसके साथ ही उक्त भारतीय प्रतिनिधियों को टेनसेंट के कार्यालय व टस होल्डिंग्स पार्क जाने का मौका भी मिला।

इस अवसर पर भारत की ओर से दो निवेशक आईवीकैप वेंचर और आईडीजी वेंचर्स के प्रतिनिधि मौजूद थे। वहीं सात्विको के संस्थापक प्रसून गुप्ता, निरोग स्ट्रीट के संस्थापक राम.एन.कुमार, ट्रिप शेल्फ की सह-संस्थापक सुखमनी सिंह, एंबी के संस्थापक अक्षय जोशी, गो-लाइव गेम के संस्थापक किरण कुमार, के साथ-साथ लॉग नाइन टैक्नोलॉजी, लैगेसी एमरेट्स ग्रुप, बिस्बो और स्नैप मिंट आदि कंपनियों के प्रमुख मौजूद थे। जबकि चीन की तरफ से अलीबाबा, जेडी डॉट कॉम, चीनी निवेश निगम, चीनी पेट्रोलियम निगम व अन्य प्रमुख चीनी निवेशकों ने शिरकत की। इस सेमिनार का उद्देश्य भारत की इन उभरती कंपनियों के लिए चीन में निवेश के अवसरों की तलाश करना था।

इस दौरान भारतीय दूतावास के डेप्यूटी चीफ ऑफ मिशन एक्विनो विमल, वेंचर गुरुकुल के संस्थापक महेंद्र स्वरूप, निवेशक प्रबंधक शिवांक सक्सेना आदि भी उपस्थित रहे। सेमिनार का आयोजन भारतीय दूतावास और वेंचर गुरुकुल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।

बीजिंग के बाद भारतीय निवेशकों और प्रतिनिधियों की मुलाकात शांगहाई में भी चीनी निवेशकों के साथ होगी।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Indian start-up companies are exploring opportunities in China

More News From international

Next Stories
image

free stats