image

नई दिल्ली: भारत ने ईरान को कच्चे तेल की पेमेंट रूपये में करने का फैसला किया है। अमेरिका के प्रतिबंध के बावजूद अमेरिका ने भारत व अन्य सात देशों को ईरान से कच्चा तेल खरीदने की छूट दी है। 5 नवंबर से प्रतिबंध ईरान पर लागू हुआ है और साथ ही रूपये मे भुगतान के लिए फ़ैसला हुआ। सूत्रों ने बताया कि भारतीय रिफाइनरी की कंपनियां नेशनल ईरानियन ऑयल कंपनियां (एनआईओसी) के यूको बैंक खाते में रुपये में भुगतान करेंगी।

Read News: मजबूती के साथ शुरू हुआ कारोबार, कच्चे तेल में गिरावट से शेयर बाजार सुधरा

जिसमेें से आधी राशी ईरान को भारत की ओर से दी गई वस्तुओं के निर्यात के भुगतान के निपटान के लिए रखी जाएगी। अमेरिका से प्रतिबंध के कारण भारत ईरान को दवा, खाद्यान्न और चिकित्सा उपकरणों का ही निर्यात कर रहा है। अमेरिका की ओर से भारत को यह छूट एस्क्रो भुगतान और ऑयल घटाने के बाद मिली है। 180 दिन की इस छूट के चलते भारत प्रतिदन ईरान से तीन लाख बैरल तक क्च्चे तेल का आयात कर सकेगा।

Read News: पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में राहत मिलने का दौर जारी, ये है आज का भाव

इस साल भरात का ईरान से कच्चे तेल का औसत आयात 5,60,000 बैरल प्रतिदिन रहा है। साल 2017-18 भारत ने ईरान से 4,52,000 बैरल प्रतिदिन तेल की खरीद की थी। सूत्रों के अनुसार कच्चे तेल की खरीददार के मामले में भारत चीन के बाद दूसरे स्थान पर आता है। नवंबर के बाद यूरो में पाबंदी लग गई और भारत ने ईरान को रूपये में भुगतान करने का समझौता किया।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: In agreement with Iran and India, India will pay in rupee to Iran for payment of crude oil

More News From business

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats