image

कहने से तो हम आजाद भारत में रह रहे हैं। लेकिन अभी भी हमारे में देश में लड़किया सुरक्षित नहीं है। अगर बात करें उत्तर प्रदेश की तो वहां लड़कियों की जिदंगी केवल बंद दरवाजे में सुरक्षित हो कर रह गई है। गोरखपुर में जीआरपी और आरपीएफ ने एक ट्रेन से 26 नाबालिग लड़कियों को रेस्क्यू किया है। 

बता दे कि ये लड़कियां मुजफ्फरपुर-बांद्रा अवध एक्सप्रेस से नरकटियागंज से ईदगाह जा रहीं थीं। इनके साथ 22 साल और 55 साल के दो पुरुष थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है और लड़कियों के पैरेंट्स को सूचना दी गई है। 10 से 14 साल की ये लड़कियां पश्चिम चंपारण से हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने 26 लड़कियों को तब रेस्क्यू किया जब 5 जुलाई को आदर्श श्रीवास्तव नाम के शख्स ने रेल मंत्रालय और रेल मंत्री को ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। लड़कियां अवध एक्सप्रेस (19040) के एस5 कोच में ट्रैवल कर रहीं थीं। आदर्श ने ट्वीट में बताया था कि नाबालिग लड़कियां रो रही हैं और असुरक्षित महसूस कर रही हैं। आर्दश के इसी ट्वीट से आज वे लड़किया सुरक्षित है। 
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: human trafficking 26 girls rescue gorakhpur

More News From uttar-pradesh

Next Stories

image
free stats