image

चंडीगढ़: प्रदेश सरकार के लिए विवाद समाप्त होने का नाम नहीं ले रहे हैं। वर्ष 2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हिंसा होने कें कारण पहले ही इस सरकार पर प्रदेश के समाज को जाट और गैर जाट में बांटने के आरोप लगाए गए थे, लेकिन हाल ही में हरियाणा स्टाफ सेलेक्शन कमीशन के जूनियर इंजीनियर की भर्ती परीक्षा में अपशकुन के बतौर काला ब्राह्मण व ब्राह्मण कन्या के सवाल पूछे जाने से प्रदेश में ब्राह्मण समुदाय में रोष है। 

अब गुरुग्राम में सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अता करने से कुछ हिन्दूवादी संगठनों द्वारा आपत्ति करने से विवाद खड़ा हो गया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा मस्जिद या ईदगांह में नमाज अता करने पर जोर देने से यह मामला तूल पकड़ गया है। मुस्लिम नेता मुख्यमंत्री के इस रुख को दोषपूर्ण बता रहे हैं। उनका कहना है कि इस तरह की सोच समाज के लिए घातक है। बहरहाल गुरुग्राम प्रशासन ने हाल में नमाज अदायगी के लिए मुस्लिम समुदाय की सहमति से 13 ऐसे सार्वजनिक स्थल तय किए हैं जहां कि नमाज की अता की जा सकती है। 

ब्राह्मण समुदाय में नाराजगी
हाल ही में हरियाणा स्टाफ सेलेक्शन कमीशन ने जूनियर इंजीनियर भर्ती परीक्षा का आयोजन किया था। इसमें सवाल पूछा गया कि प्रदेश में अपशकुन के बतौर कौन से संकेत माने जाते हैं। इन संकेतों में काला ब्राह्मण और ब्राह्मण कन्या और खाली बर्तन जैसे संकेत शामिल किए गए थे। ब्राह्मण समुदाय में इस तरह के सवालों में शामिल किए जाने से नाराजगी फैल गई। इसके लिए स्टाफ सेलेक्शन कमीशन के दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जा रही है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विदेश दौरे से लौटने का इंतजार किया रहा है। तब उन्हें दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अल्टीमेटम दिया जाएगा।
 
क्या कहते हैं समुदाय के नेता
ब्राह्मण समुदाय के रोष पर कांग्रेस नेताओं ने भी भाजपा सरकार को आड़े हाथ लिया है। उनका कहना है कि सरकार ने जानबूझकर यह अपमान कराया है। कांग्रेस के ब्राह्मण चेहरे पूर्व स्पीकर व विधायक कुलदीप शर्मा ने सरकार को सात दिन का अल्टीमेटम दिया है। इस अविध में कमीशन के दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई नहीं की गई तो कांग्रेस स्वयं एफ.आई.आर. दर्ज करवाएगी। इसमें मुख्यमंत्री का भी नाम शामिल किया जाएगा।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: government of haryana surrounded by religious and ethnic disputes

Next Stories
image

free stats