image

चंडीगढ़: पंजाब के कालेजों में रिटायर प्रिंसीपल पद पर री-इम्पलाइमैंट करने के लिए अब पुराने 2 प्लस 2 प्लस वन के फार्मूले को अमल में लाने का प्रस्ताव है। शनिवार को देर शाम तक चली यूनिवर्सिटी सिंडीकेट ने सीनेट से वापस भेजे गए प्रस्ताव पर पुर्नविचार के बाद यह निर्णय किया। सिंडीकेट में पारित प्रस्ताव के मुताबिक 15 जून 2018 से पहले पंजाब के कालेजों में प्रिंसीपल पद की रिक्तियों को निर्धारित व्यवस्था के अनुरूप भरा जाएगा। कालेज प्रबंधकों को प्रिंसीपल पद के लिए विज्ञापन देने और वेतनमान के रुप में बेसिक, ग्रेड पे और डीए देने का भी प्रावधान किया जाएगा। विवादों में घिरी रिटायर कालेज प्रिंसीपल पदों की नियुक्तियों के मामले के अब हल होने की संभावना है। बहरहाल, सिंडीकेट के इस ताजा तरीन फैसले पर अभी सीनेट की मंजूरी की मुहर लगना अभी बाकी है।

नॉन टीचिंग : अब सीनियोरिटी से मिलेगी प्रमोशन 
नॉन टीचिंग मुलाजिमों पर गाज गिरने से बच गई, यूनिवर्सिटी सिंडीकेट ने दिल्ली यूनिवर्सिटी की तर्ज पर प्रमोशन के लिए टेस्ट और इंटरव्यू लिए जाने के क्रम के प्रस्ताव को रद्द कर दिया। इस प्रस्ताव से अब नॉन टीचिंग कर्मचारियों को वरिष्ठता सूची के आधार पर प्रमोशन मिल सकेगी। सिंडीकेट में यह प्रस्ताव पास होने के बाद इसे भी सीनेट में भेजा जाएगा। गौरतलब हो कि यूनिवर्सिटी इंस्टीच्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टैक्नोलॉजी के चेयरमैन ने वीसी प्रो.अरुण कुमार ग्रोवर को लिखे पत्र में नॉन टीचिंग कर्मचारियों की योग्यता और कामकाज दोनों पर उंगली उठाते हुए कहा था कि कर्मचारियों को काम नहीं और उनकी अंग्रेजी पुअर होने की वहज से सेंटर का काम लटका पड़ा है। इधर , सिंडीकेट ने डीन कालेज डिवैल्पमैंट का काउंसिल -डीसीडीसी और चीफ यूनिवर्सिटी सिक्योरिटी के पद को दोबारा री-एडवरटाइज करने के प्रस्ताव का स्वीकृत कर दिया। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: college principals reimplementation with old formula

More News From chandigarh

Next Stories
image

free stats