image

अमेरिका द्वारा चीन से आयातित 50 अरब अमेरिकी डॉलर मूल्य वाले उत्पादों पर टैरिफ़ बढ़ाने की घोषणा करने के 11 घंटों में चीन ने जवाबी लिस्ट भी जारी की। लिस्ट में अमेरिका द्वारा चीन को निर्यातित कई अहम उद्योग शामिल हैं। सूची में सोयाबीन, मोटर गाड़ी और विमान आदि अमेरिका के श्रेष्ठ उत्पाद हैं। चीन इसलिए कम समय में यह लिस्ट जारी कर सकता कि चीन पहले ही पूरी तैयारी कर चुका है। 60 दिनों के बाद यदि अमेरिका सज़ा के तौर पर टैरिफ लगाने का निर्णय करता, तो चीन भी उसी दिन में जवाबी कार्यवाई करेगा। इस बार चीन का सख्त रवैया औऱ तेज़ प्रतिक्रिया शायद कई लोगों की प्रतीक्षा से बाहर है, जो अभूतपूर्व है। विश्व के स्टॉक बाजार ने तुरंत इस पर प्रतिक्रिया की। अमेरिकी शेयर बाजार के तीन प्रमुख सूचकांकों में बड़ी गिरावट दर्ज की गयी। यदि यह स्थिति जारी रही, तो संभवतः वित्तीय अफरा-तफरी मचेगी। इसलिए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने सुबह ट्विटर पर कहा कि हम चीन से व्यापारिक लड़ाई नहीं करते हैं। अमेरिकी वाणिज्य मंत्रा रोस ने कहा कि चीन-अमेरिका व्यापारिक विवाद तीसरा विश्व युद्ध नहीं है। यदि व्यापारिक लड़ाई लड़े, तो अमेरिका नहीं हारेगा। चीन संभवतः अंततः सलाह मश्विरे के जरिए विवाद का हल करेगा। अभी अभी ट्रम्प के प्रथम आर्थिक सलाहकार का पद संभालने वाले कुदलो ने कहा कि अमेरिकी शेयर बाजार ने अति तीव्र प्रतिक्रिया की है। बाद में शायद अमेरिका अपने रुख पर और संजीदगी से सोच-विचार करेगा। आखिरकार यदि व्यापारिक लड़ाई छिड़ती है, तो सचमुच भयानक वित्तीय अफरा-तफरी पैदा होगी।
(साभार—चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)   
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: chinas counteraction was not anticipated by the us

More News From international

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats