image

बालीवुड सुपर स्टार आमिर खान ने हाल ही में बताया कि वे भारत और चीन के बीच सेतु की भूमिका निभाना चाहते हैं ।वे दोनों देशों की आवाजाही बढ़ाने के लिए कोई भी बात करने को तैयार है। मीडिया की खबर है कि चीन में बड़ा नाम होने के कारण भारत सरकार आमिर खान को छवि के राजदूत नियुक्त करने पर विचार कर रही है ,ताकि भारत की सेवा उद्योग के निर्यात को बढ़ावा मिले। इस खबर के जवाब में आमिर खान ने बताया कि अब तक किसी सरकारी विभाग ने उन से संपर्क नहीं किया। अख़बार से ही उनको यह खबर मिली ।लेकिन उन्होंने बताया कि चाहे सरकारी नियुक्ति हो या नहीं, वे हमेशा चीन और भारत के बीच पुल की भूमिका निभाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हर चीन यात्रा में उन को चीनी फिल्म प्रेमियों का जोरशोर से स्वागत मिला ।चीनी जनता के मित्रवत व्यवहार से उन पर गहरा प्रभाव पड़ा है ।उन्होंने कहा कि फिल्म दोनों देशों की जनता की पारस्परिक समझ बढ़ा सकेगी और एक दूसरे का फासला पाट सकेगी ।उन की हार्दिक आशा है कि अधिकाधिक चीनी फिल्में भारत भी आएंगी ताकि भारतीय जनता चीन को पसंद करें। उल्लेखनीय बात है कि आमिर खान की फिल्म दंगल ने वर्ष 2017 में चीन में 1 अरब युआन की कमाई की ,जो विदेशी बाज़ार में भारतीय फिल्मों के लिए एक ऑफिस बॉक्स रिकार्ड है ।इस साल के शुरू में उन की फिल्म सीक्रेट सुपर स्टार ने चीन में 69 करोड़ युआन कमाए, जो पहली तिहामी में चीनी बाजार में निर्यातित विदेशी फिल्मों में पहले स्थान पर रही। बता दें कि 1971 में बनी आमिर खान के चाचा की फिल्म कारवां चीन भर में मशहूर है ।वह कई पीढ़ियों के चीनियों की याद और पसंद है।

(साभार—चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: china ready to increase indiaaamir khan

More News From international

Next Stories
image

free stats