image

नौरंगाबाद/खडूर साहब (तरन तारन): शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने मंगलवार को आरोप लगाया कि सांसद रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ मुलाकात करने के बाद अकाली दल को तोड़ने और कमज़ोर करने की साजिश रची थी।
सुखबीर सिंह बादल ने यहां कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि श्री ब्रह्मपुरा के लिए अब अकाली दल के दरवाज़े हमेशा के लिए बंद कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि श्री ब्रह्मपुरा, डा. रत्न सिंह अजनाला और श्री सेवा सिंह सेखवां सहित अन्य मुट्ठी भर लोगों ने कांग्रेस पार्टी की हिदायत पर शिरोमणि अकाली दल के ख़िलाफ़ बयानबाज़ी की, जिनका उदेश्य शिरोमणि अकाली दल को अस्थिर करना, बाँटना और कमज़ोर करना था।

Whatsapp यूजर्स अब 1 मैसेज को सिर्फ इतने लोगों को ही कर सकेंगे फॉरवार्ड

उन्होंने कहा कि श्री ब्रह्मपुरा के विश्वासघात से पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को सबसे ज़्यादा ठेस पहुँची है। उन्होंने कहा कि पार्टी और प्रकाश सिंह बादल ने सबसे अधिक सम्मान श्री ब्रह्मपुरा परिवार को दिया। उन्होंने कहा कि कि 2012 की विधान सभा चुनाव के बाद 2014 के लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए पार्टी की टिकट देकर प्रकाश सिंह बादल ने श्री ब्रह्मपुरा का करियर बनाया था। श्री ब्रह्मपुरा ने 2014 में खडूर साहब से अपने पुत्र रवीन्द्र को पार्टी टिकट देने के लिए शिरोमणि अकाली दल पर दबाव बनाया था। उन्होंने कहा कि प्रकाश सिंह बादल साहब ने आखिर में फ़ैसला किया कि पार्टी को धोखा देने वाले श्री ब्रह्मपुरा को पार्टी में रहने का कोई अधिकार नहीं है। 

Yamaha ने फेजर 25 और एफजैड 25 बाइक्स के ABS वर्जन किए लॉन्च, जानें कीमत

उन्होंने कहा कि पार्टी के अनुशासन के साथ कोई समझौता नहीं हो सकता इसलिए श्री ब्रह्मपुरा और साथियों को पार्टी में वापस नहीं लिया जायेगा। पंजाब सरकार अकाली कार्यकर्ताओं पर राजनैतिक रंजिश के कारण झूठे मामले दर्ज कर रही है। इस अवसर पर पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने  किसानों से किये कर्ज़ माफी के और घर-घर नौकरी देने के अपने वादों को पूरा नहीं किया है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Brahmapura is conspiring against Akali Dal in collaboration with Congress: Badal

More News From punjab

Next Stories

image
free stats