image

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को चुनावी बिगुल फूंकते हुए कहा कि भाजपा चाहती है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण जल्द हो, लेकिन कांग्रेस राम मंदिर के निर्माण में रोड़ा अटकाने का कोई भी मौका नहीं गंवाती। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में भाजपा चाहती है कि राम मंदिर पर सुनवाई पूरी हो, लेकिन कांग्रेस बाधा खड़ी कर रही है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राष्ट्रीय परिषद के दो दिवसीय सम्मेलन की शुरुआत यहां शुक्रवार को हुई। सम्मेलन में शाह ने कहा, ‘‘भाजपा चाहती है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जल्द हो, लेकिन कांग्रेस राम मंदिर के निर्माण में रोड़ा अटका रही है। भाजपा चाहती है कि सर्वोच्च न्यायालय में राम मंदिर पर सुनवाई पूरी हो, इसके लिए हम प्रयास कर रहे हैं, लेकिन कांग्रेस यहां बाधा खड़ा कर रही है।

यहां रामलीला मैदान में आयोजित राष्ट्रीय परिषद सम्मेलन का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी समेत भाजपा पदाधिकारियों ने दीप जलाकर किया। रामलीला मैदान में आयोजित इस सम्मेलन में भाजपा के 12,000 से अधिक सदस्य हिस्सा ले रहे हैं।शाह ने कार्यकर्ताओं से 2019 की तैयारी में जुट जाने का आह्वान करते हुए कहा कि राजग आगामी चुनाव में एक बार फिर बहुमत प्राप्त करेगा और केंद्र में सरकार बनाएगा। उन्होंने कहा कि 2019 का चुनाव दो विचारधाराओं के बीच का युद्ध है और युद्ध सदियों तक याद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि दुनिया का कोई भी नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जितना लोकप्रिय नहीं है।

शाह ने भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा, ‘‘2019 का चुनाव भाजपा के लिए बहुत मायने रखता है। हमारी सरकार ने गरीबों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं दी हैं। 2019 का चुनाव दो विचारधाराओं के बीच युद्ध है। 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसलिए राजग के 35 दल नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एकजुट हैं।उन्होंने कहा, ‘‘मराठा एक युद्ध हारे थे तो देश 200 सालों के लिए गुलाम हो गया था। 2019 की स्थिति भी आज उसी तरह की है। 2014 में छह राज्यों में भाजपा की सरकारें थीं और आज 16 राज्यों में हमारी सरकारें हैं।उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा, ‘‘2019 में मोदी की सरकार बनवा दीजिए, केरल तक भाजपा सरकार बना लेगी।विपक्षी दलों के गठबंधन की पहल को ढकोसला करार देते हुए शाह ने कहा कि भाजपा गरीबों के कल्याण और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को आगे बढ़ा रही है, जबकि विपक्षी दल केवल सत्ता के लिए साथ आ रहे हैं। कांग्रेस और समूचे विपक्ष पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि विरोधियों के पास न नेता हैं और न नीति। उप्र में 2014 जैसी सलफता दोहराने का दावा करते हुए शाह ने कहा कि इस बार उनकी पार्टी 73 सीटों के मुकाबले यहां 74 सीटें जीतेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने स्वच्छता, गंगा के पानी के शुद्धिकरण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसी योजनाओं का जिक्र कर भाजपा सरकार की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले साढ़े चार सालों में 50 से ज्यादा ऐतिहासिक फैसले लिए गए। नौ करोड़ शौचालय बनाए गए। 2014 तक 60 करोड़ घर ऐसे थे, जिनके पास अपना बैंक खाता नहीं था, लेकिन मोदी सरकार ने एक झटके में ही इन सभी का खाता बैंकों में खोल दिया।भाषण की शुरुआत में शाह ने कहा, ‘‘पिछले एक हफ्ते में ही मोदी सरकार ने अहम फैसले लिए हैं। सामान्य वर्ग के लोगों को शिक्षा और रोजगार में 10 फीसदी आरक्षण देने का फैसला महत्वपूर्ण है, जिसे न सिर्फ कैबिनेट ने मंजूर किया, बल्कि संसद के दोनों सदनों में पास भी करा लिया गया।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: BJP wants Ram temple at earliest, Congress creating hurdles: Amit Shah

More News From national

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats