image

नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन की उपस्थिति में आज चांदनी चौक जिले के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री हारून युसूफ ने एक प्रस्ताव रखा, जिसमें सर्व सम्मति से यह फैसला लिया गया कि आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली के विधान सभा के विशेष सत्र में से भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम निकाले। इस प्रस्ताव को  पूर्व विधायक शोएब इक्बाल तथा प्रह्लाद सिंह साहनी ने समर्थन किया। अजय माकन ने आम आदमी पार्टी से यह मांग कि दिल्ली विधान सभा का विशेष सत्न बुलाकर राजीव गांधा के नाम को दिल्ली विधान सभा की उस कार्रवाई से निकाला जाए जिसमें उन्होनें ने राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने का प्रस्ताव पास किया था।

Xiaomi ने लॉन्च किया दमदार स्मार्टफोन Mi Play, 1 साल तक हर महीने मिलेगा फ्री में 10GB डाटा

माकन ने कहा कि आम आदमी पार्टी व भाजपा को राजीव गांधी द्वारा किए गए एकता व विकास के कार्यो का नही पता है, शायद उनकों यह भी नही पता है कि राजीव गांधी ने कैसे देश की एकता व अखण्डता के लिए अपने प्राणों तक की बली दे डाली। अजय माकन ने कहा कि 1984 मे हुए दंगों को नरसंहार घोषित करने से पहले आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार को  नरेन्द्र मोदी के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में गुजरात में 2002 में हुए देगों को नरसंहार घोषित करना चाहिए था। उन्होंने कहा कि दोनो भाजपा व आम आदमी पार्टी इस विषय पर चुप्पी साधे बैठे है। इससे यह साफ-साफ जाहिर हो जाता है कि दिल्ली विधान सभा में राजीव गांधी को लेकर पास किए गए प्रस्ताव के पीछे भाजपा व आम आदमी पार्टी की मिली भगत है। माकन ने कहा कि यूपीए की चैयमैन  सोनिया गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह तथा काग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 1984 के दंगों को लेकर पहले ही खेद प्रकट कर चुके है क्योंकि इस प्रकार के दंगे भारत की धर्म निर्पेक्षता की सोच के खिलाफ है जो नहीं होनी चाहिए।

वॉटरड्रॉप नॉच और डुअल कैमरे के साथ लॉन्च हुआ Vivo Y93, जानें कीमत व स्पेसिफिकेशन्स

अजय माकन ने कहा कि कांग्रेस के केन्द्र की में सत्ता में आने के 10 दिनों के अन्दर हम दिल्ली में लोगों को सिलिंग व तोड़-फोड़ से निजात दिलाएंगे।  उन्होंने कहा कि इसी प्रकार हमने अपने वादे के अनुसार मध्यप्रदेश, राजस्थान तथा छत्तीसगढ़ में सत्ता में आने के 10 दिनों के अन्दर किसानों के कर्जे माफ कर दिए। उन्हांने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार व आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार की गलत नीतियों के कारण 30 हजार के करीब फैक्ट्रियां व दुकानें सील हुई है, जिसके कारण लाखों लोगों को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है। माकन ने कहा कि भाजप व आम आदमी पार्टी दोनों धर्म व जातिवाद की राजनीति करके देश के लोगों को बांट रहे है। माकन ने कहा कि देश मे हमारे नेता राहुल गांधी ही एक ऐसे राष्ट्रीय नेता है जो भाजपा और आर.एस.एस. से लड़ रहे हैं और उनकी इस लड़ाई के कारण ही मध्यप्रदेश, राजस्थान व छत्तीसगढ़ में भाजपा की हार हुई है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: BJP and AAP divided the people of the country by making politics of religion and racism: Maken

More News From national

Next Stories
image

free stats