image

नई दिल्ली : दुनिया के महान खिलाड़ी और भारतीय क्रिकेट का सबसे बड़ा सितारा सचिन तेंदुलकर मंगलवार को 45 वर्ष के हो गये। पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ को दुनियाभर से उनके प्रशंसकों और क्रिकेटरों ने जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं। महान बल्लेबाज़ सचिन का जन्म 24 अप्रैल 1973 को मुंबई के एक मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था। वह दुनिया के एकमात्र क्रिकेटर हैं जिन्होंने करियर में 200 टेस्ट खेले और 100 अंतरराष्ट्रीय शतक बनाये। हम आपको सचिन के जन्मदिन पर उनसे जुड़ी कुछ खास बातें बताएंगे, लेकिन सबसे दिलचस्प उन 13 सिक्कों की कहानी है, जो आज भी सचिन के पास मौजूद हैं। क्या है इन सिक्कों के पीछे का राज़।

सचिन ने 16 साल की उम्र से ही इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने शुरू किया था। क्रिकेट का बादशाह बनने से पहले और इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखने से पहले सचिन के पास 13 सिक्के थे, जो आज भी उनके पास हैं। ये सिक्के उन्हें इनाम के रूप में मिलते थे।
सचिन स्कूल से छुट्टी होने के बाद जब रमाकांत आचरेकर की कोचिंग में दूसरे खिलाड़ियों के साथ अभ्यास करते थे तो उनके कोच स्टंप पर एक सिक्का रख दिया करते थे।

सचिन जब प्रैक्टिस के दौरान बल्लेबाज़ी करने आते तो आचरेकर दूसरे खिलाड़ियों को कहते कि जो खिलाड़ी सचिन का विकेट ले लेगा, ये सिक्का उसका और अगर कोई भी खिलाड़ी उन्हें आउट नहीं कर पाता था तो वो सिक्का सचिन का हो जाता था। सचिन ने उस समय ऐसे 13 सिक्के जमा किए थे और खास बात ये है कि ये सभी सिक्के आज भी उनके पास रखे हुए हैं। एक इंटरव्यू में सचिन ने बताया था कि आचरेकर सर के दिए हुए वो 13 सिक्के सबसे यादगार चीज़ है। जिनकी वजह से मुझे सब कुछ मिला। रमाकांत आचरेकर ने जिस तरह से समय-समय पर तेंदुलकर का मार्गदर्शन करते हुए दुनिया के शिखर पर पहुंचाया। वहीं सचिन ने उन्हें वो सम्मान दिया जिसके वो हकदार थे।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: birthday special the story of sachin tendulkar and 13 coins which he loved the most

More News From sports

Next Stories
image

free stats