image

मेरठ: सिपाही हत्याकांड में बडा खुलासा हुआ है। सिपाही अंकुर के मर्डर केस में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासे के साथ हत्यारोपी मुखबिर को गिरफ्तार कर लिया है। हत्यारोपी मुखबिर आमिर फलावदा थाना पुलिस का खबरी था। अंकुर और आमिर के बीच अच्छी दोस्ती थी और आरोप है कि इसी दोस्ती का फायदा उठाकर अंकुर आमिर की बहन पर गलत नजर रखता था। इसी रंजिश में आमिर ने अंकुर को चौकी से ले जाकर गोली मार कर कत्ल कर दिया। 11 जनवरी को मेरठ के फलावदा कस्बे की पुलिस चौकी पर तैनात अंकुर की लाश पास के ही एक खेत में मिली थी। अंकुर को दो गोलियां लगी थी और हत्या में प्रयुक्त तमंचा और कुछ कारतूस मौके पर पुलिस ने बरामद किए थे। पहले आत्महत्या की बात सामने आई लेकिन शरीर में लगी दो गोलियों ने सुसाइड की थ्योरी सिरे से खारिज कर दी।

चार दिन की तहकीकात में पुलिस के हाथ कुछ भी नहीं लगा लेकिन अंकुर की कॉल डिटेल से पता चला कि उसके संपर्क में लगातार रहने वाला पुलिस का मुखबिर आमिर वारदात के दिन से चुप बैठा हुआ है। आमिर फलावदा कस्बे के ही मोहल्ला कुरैशियान का निवासी है। पुलिस ने जब उससे अंकुर के बारे में सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने स्वीकार किया कि अंकुर की हत्या उसी ने गोली मारकर की है। हत्या की वजह सुनकर पुलिस अफसरों के पैरों तले जमीन खिसक गई। दरअसल, अंकुर और आमिर के बीच अच्छी दोस्ती थी और आमिर के घर अंकुर आता जाता था।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Big reveals in police murder case, police are also surprised

More News From national

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats