image

बीकानेरः भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को कांग्रेस पर आरोप लगाया कि विपक्षी दल को चुनाव के समय ही बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की याद आती है। शाह ने गुरुवार को बीकानेर में आयोजित अनुसूचित जाति सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, नरेंद्र मोदी सरकार ने अनुसूचित जाति के विकास के लिए लगातार काम किया है। 

आंबेडकर की याद बनाये रखने के लिए सिक्का चलाया। राजस्थान में आंबेडकर भवन बनवाये लेकिन कांग्रेस को बाबासाहब, चुनाव के समय ही याद आते है। उन्होंने कहा कि राजस्थान और केंद्र की भाजपा सरकार ने अनुसूचित जाति और दलितों के विकास के लिए ठोस काम किये हैं जो कांग्रेस ने कभी नहीं किया। 

शाह ने अपने संबोधन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से सवाल पूछा, ‘भाई राहुल गांधी आजादी के तुरंत बाद बाबा साहब संसद में आना चाहते थे किस पार्टी ने रोका? उपचुनाव लड़ना चाहते थे किसने रोका, उन्हें भारत रत्न देने से किसने रोका, संसद में तैल चित्र लगाने से किसने रोका?’ भाजपा प्रमुख ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने बाबा साहब को भारत रत्न दिया और संसद में बाबा साहब का तैल चित्र लगवाने का काम किया। 

उन्होंने दावा किया कि ‘भाजपा की यह विशेषता है कि वह किसी जाति और समाज की पार्टी नहीं है। वहीं सीकर में शक्ति सम्मेलन में उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि वे अपने सारे गिले शिकवे भूलकर चुनाव मैदान में डट जाएं। शाह ने कहा, सारे गिले शिकवे और किसी के नाम पर मत डालिये । मैं पार्टी का अध्यक्ष हूं मेरे खाते में डालिये। मतगणना के बाद आकर हिसाब किताब कर जाना।

जिसको जिससे भी गिला है शिकवा है सारे अमित शाह के खाते में डाल दो। वहीं पूर्व सैनिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि केंद्र सरकार ने सेना को आधुनिक बनाने, सेना की क्षमता और व्यवस्था में बदलाव लाने, जवानों के लडने की तकनीक और अस्त्र शस्त्र में बदलाव लाने के लिये 20 साल का खाका तैयार किया है।उन्होंने दावा किया कि यह काम आजादी के बाद पहली बार भाजपा सरकार ने किया है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Baba Saheb memorandum comes to Congress only during elections: Amit Shah

More News From national

Next Stories
image

free stats