image

पटियाला: थाना डिवीजन नं. 2 के सरकारी क्वार्टरों में शनिवार शाम करीब 5 बजे डिवीजनल कमीशनर आर.वी. मीना की सुरक्षा में पी.एस.ओ. के तौर पर तैनात ए.एस.आई. बाबी कुमार की संदिग्ध हालत में गोली लगने से मौत हो गई। थाने के पास ही बने क्वार्टर में गोली की आवाज सुनते ही पुलिस व क्षेत्र में भगदड़ मच गई। जब तक पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो खून से लथपथ ए.एस.आई. बाबी ढेर हो चुका था। सूचना मिलते ही बाबी का परिवार भी पहुंच गया, पुलिस ने आनन फानन में बाबी का शव पोस्टमार्टम के लिए राजिंदरा अस्पताल की मोर्चरी में भेज दिया हैं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक ए.एस.आई. बाबी घटना के मौके क्वार्टर में अकेला ही था। घटना की सूचना पुलिस ने ही परिवार को दी। मृतक के रिश्तेदार बंटी ने बताया कि उसकी बहन अपने दोनों बच्चों को साथ लेकर मायके घर आई हुई थी। उन्होंने बताया कि मूल रूप में शहर की गुरबख्श कालोनी क्षेत्र के रहने वाले बाबी के साथ उसकी बहन सुमन की शादी करीब 20 वर्ष पूर्व हुई थी, शादी के करीब 10 वर्ष बाद दोनों पति-पत्नी पुलिस से अलाट क्वार्टर में ही रहने लगे थे। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से संदिग्ध हालत में हुई मौत की गहराई से जांच करने की गुहार लगाई।

तफ्तीश के बाद हाेगा खुलासा

ए.एस.आई. की कनपटी पर बहुत ही करीब से गोली लगी थी, जबकि उसका सविस रिवाल्वर भी शव के पास ही पड़ा था। मौके पर पहुंचे डी.एस.पी. सिटी 1 सौरभ जिंदल व थाना कोतवाली के एस.एच.ओ. राहुल कौशल ने बताया कि बाबी की मौत उसकी सविस रिवाल्वर की गोली से ही हुई है। गोली कैसे लगी यह खुलासा तफ्तीश के बाद ही हो पाएगा।

बाबी ने किया सुसाइड? 

भले ही पुलिस बाबी की मौत की वजह बयान करने के सवाल का जबाब देने में टालमटोल कर रही हो, मगर मौका ए हालात सुसाइड की तरफ ही इशारा कर रहे हैं। मृतक के परिवार की महिलाओं के विलाप में बोले शब्द कि हुण ते ओहदे कालजे ठंड पै गई होऊ, साडे ए.एस.आई. दी जान लै के। कुछ पुरुष भी मौत के लिए किसी पुलिस कर्मी महिला का नाम दबी जुबान में लेते सुने गए, जिन्हें कुछ पुलिस कर्मी बच्चों के भविष्य का वास्ता देकर मुंह बंद करने की ताकीद करते रहे। जब मीडिया कर्मी घटनास्थल की तरफ बढ़ने लगे तो पुलिस कर्मी उन्हें रोकते रहे। कुछ पुलिस कर्मियों ने तो फोटो जर्नलिस्टों को फोटो करने से रोक भी दिया।

संदेह के दायरे में महिला दोस्त 

ए.एस.आई. बाबी की करीबी दोस्त रही एक महिला पुलिस कर्मी की भूमिका भी संदेह के दायरे में आ गई है। महिला दोस्त की नजदीकियां काफी समय से चर्चा में रही हैं। गत कुछ माह पूर्व किसी वजह से दोनों में अनबन भी हो गई थी। सूत्न तो यहां तक भी बताते हैं कि बाबी की महिला दोस्त ने उसके विरुद्ध थाने में शिकायत भी दे डाली थी, जिसे कुछ पुलिस अधिकारियों ने दोनों में सुलह करवाने के बाद ठंडे बस्ते में डाल दिया था। बाबी के कुछ करीबी तो उसकी महिला दोस्त की कथित ब्लैकमेलिंग के चलते आत्महत्या के लिए मजबूर हो जाने का कड़वा सच बयान कर रहे हैं। उधर एस.एच.ओ. ने कहा कि बिना किसी परिवार के सदस्य के बयान व ठोस सबूत के कुछ भी कहना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि जैसे परिवार के बयान होंगे, वैसी ही कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

 

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: asi death of questionable condition

More News From punjab

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats