image

नैनीतालः दुष्कर्म के मामले में जेल में बंद चल रहे आसाराम बापू को उत्तराखंड उच्च न्यायालय से बुधवार को उस समय दूसरा बड़ा झटका लगा जब न्यायालय ने ऋषिकेश स्थित आशाराम के आश्रम को खाली कराने के वन विभाग के आदेश को उचित ठहरा दिया। मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन और न्यायमूर्ति आर सी खुल्बे की युगलपीठ ने आशाराम आश्रम की ओर से दायर विशेष अपील को भी आज खारिज कर दिया।

READ MORE Pulwama Attack का वर्ल्ड कप पर असर, सरकार ने किया मना तो पाक से नहीं खेलेगा भारत

वकील कार्तिकये हरि गुप्ता ने बताया कि आशाराम बापू को उच्च न्यायालय से इससे पहले भी झटका लग चुका है। चार दिसंबर 2018 को उच्च न्यायालय की एकलपीठ ने वन भूमि पर अतिक्रमण के मामले में जारी स्थगनादेश को वापस ले लिया था और आश्रम को खाली कराने के लिये वन विभाग के कदम को उचित ठहराया था। गुप्ता ने बताया कि ऋषिकेश के मुनि की रेती स्थित ब्रह्मपुरी निरगढ़ में आसाराम बापू का आश्रम है। वन विभाग की ओर 9 सितम्बर 2013 को आश्रम को खाली कराने के लिये एक आदेश जारी किया गया। आश्रम की ओर से इस मामले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी गयी और कोर्ट ने 17 सितम्बर 2013 को वन विभाग के आदेश पर स्थगनादेश जारी कर दिया।

READ MORE भारत-सऊदी अरब के बीच होगी इस मुद्दे पर अहम बातचीत

इसके बाद स्टीफन डुंगई नामक व्यक्ति के हस्तक्षेप के चलते इस मामले में नया मोड़ आ गया। गुप्ता ने बताया कि स्टीफन की ओर से कोर्ट में नये तथ्य पेश किये गये। डूंगई की ओर से कोर्ट को बताया गया कि जिस वन भूमि पर आश्रम है उसकी लीज 1970 में समाप्त हो चुकी है। तब से लेकर आज तक लीज नहीं बढ़ाई गयी है। डूंगई की ओर से कोर्ट को यह भी बताया गया कि जमीन की असली लीज आशाराम के बजाय त्यागी लक्ष्मण दास के नाम है और उसे भी विभाग की ओर से मात्र 20 साल के लिये लीज प्रदान गयी थी।

READ MORE Pulwama Attack : इमरान के खिलाफ पत्नी ने दिया बयान, कह दी इतनी बड़ी बात

डूंगई की ओर से कोर्ट में नौ सितम्बर 2005 का आदेश भी पेश किया गया जिसमें वन विभाग की ओर से साफ साफ कहा गया कि यदि मुख्य लीज होल्डर अन्य किसी को लीज हस्तांतरित करता है तो वन विभाग जमीन को अपने कब्जे में ले लेगा। इसके बाद एकलपीठ ने स्थगनादेश को वापस ले लिया। आज युगलपीठ ने इसी आधार पर आश्रम की विशेश याचिका को खारिज कर दिया। अब वन विभाग के पास आश्रम को खाली कराने का विकल्प मौजूद है।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Asaram Bapu Was Shocked By The High Court, Special Appeal Rejected

More News From national

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats