image

मंडी: चैक बाऊंस का अभियोग साबित होने पर अदालत ने आरोपी को एक साल के साधारण कारावास और 5,50,000 हजार हर्जाने की सजा का फैसला सुनाया है। न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी कोर्ट नंबर तीन अशोक कुमार के न्यायलय ने औट तहसील के टकोली (नगवांई) गांव निवासी ज्ञान चंद पुत्र भाग चंद की शिकायत पर चलाए गए अभियोग के साबित होने पर जिला कुल्लू के कलेहली (बजौरा) निवासी अजय पठानिया पुत्र नंद लाल सिंह पठानिया को उक्त कारावास और हर्जाने की सजा का फैसला सुनाया है। अधिवक्ता लोकेंद्र कुटलैहडिया के माध्यम से अदालत में दायर शिकायत के अनुसार शिकायतकर्त्ता की देनदारी चुकाने के लिए आरोपी अजय पठानिया ने उन्हें 31 मार्च 2012 को 5,50,000 रुपए का एक चैक जारी किया था।

 

शिकायतकर्त्ता ज्ञान चंद ने जब यह चैक भुगतान के लिए अपने बैंक में लगाया तो आरोपी के खाते में पर्याप्त राशि न होने के कारण यह बाऊंस हो गया था। जिसके चलते शिकायतकर्त्ता ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से आरोपी को 15 दिनों का कानूनी नोटिस देकर राशि अदा करने को कहा था। लेकिन इसके बावजूद भी राशि अदा न करने के कारण उन्होंने अदालत में निगोशिएबल इंस्टुमेंट अधिनियम की धारा 138 के तहत शिकायत दायर करके आरोपी के खिलाफ अभियोग चलाया था। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि आरोपी के खिलाफ उक्त अधिनियम के तहत चैक बाऊंस का अपराध साबित हुआ है। जिसके चलते अदालत ने आरोपी को उक्त कारावास और हर्जाने की सजा का फैसला सुनाया है।  
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 1 year imprisonment for check bounced punishment for 35 million rupees

More News From himachal

Next Stories

image
free stats