image

मुंबईः मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि चक्रवात ‘वायु’ के रास्ता बदल लेने और इसके गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं होने के बावजूद इस राज्य के तटीय क्षेत्रों के लिए तूफान की गंभीरता एक खतरा बनी हुई है।

अधिकारी ने कहा, ‘‘तेज हवाओं, धूल भरी आंधी और बारिश का खतरा जस का तस बना हुआ है। चक्रवात की ‘आंख’ के रुप में जाना जाने वाला तूफान का मध्य भाग गुजरात तट से थोड़ा दूर हो गया है, लेकिन इसका व्यास 900 किलोमीटर से अधिक का है।’’ मौसम विभाग के अधिकारी ने कहा कि पूर्व में चव्रवात गुजरात तट की तरफ सीधा बढ़ रहा था, लेकिन अब यह गुजरात तट से थोड़ा दूर हो गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन गुजरात तट के लिए जारी हाई अलर्ट की स्थिति से इसकेर् चक्रवाती फैलाव के चलते कोई राहत नहीं है। चक्रवाती तूफान गुजरात के पोरबंदर और कच्छ क्षेत्र तक अन्य हिस्सों से टकराने जा रहा है।’’ अधिकारी ने कहा कि मौसम विज्ञान विभाग चव्रवात के बारे में अपराह्न तक और जानकारी अद्यतन करेगा। पूर्व में गुजरात की तरफ बढ़ता हुआ चक्रवात महाराष्ट्र के मुंबई, रायगढ़, ठाणे और पालघर जिलों के लिए कुछ राहत की बारिश लेकर आया।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: High performance in Gujarat, panic in the people of the state

More News From maharashtra

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats