image

महाराष्ट्रः गर्मियों के दिनों में पानी की किल्लत होना स्वभाविक है। कई जगहों पर पानी की इतनी किल्लत है कि लोगों को पीने के लिए पानी की चंद बूंदें नहीं मिल पाती हैं। महाराष्ट्र के मराठावाड़ा में हालात ऐसे हो चुके हैं कि वहां की गोदावरी नदी पूरी तरह से सूख गई है और नदी की मछलियां बिना पानी के मर रही हैं, वहीं लोगों का भी यही हाल है। पानी की किल्लत से जगह-जगह पर सूखा पड़ रहा है और ये अकाल पडने की निशानी लग रही है। 

औरंगाबाद से महज 65 किलोमीटर की दूरी पर 8 हजार की आबादी वाले नौगांव से बहने वाली गोदावरी पूरी तरह सूख गई है। यहां के लोग बूंद-बूंद पानी के लिए भटकते नजर आ रहे हैं। जानवरों के लिए चारा नहीं है। बता दें कि नौगांव देश की दूसरी सबसे बड़ी नदी के तट पर बसा है।

कहने के लिए ये गांव आबाद है, हालांकि गोदावरी नहीं के तट पर बसे इस गांव में पानी की किल्लत है। ऐसे ही गोदावरी नदी के तट पर बसे ऐसे 90 गांव है, जो पूरी तरह नदी  के पानी पर निर्भर है, लेकिन पानी नहीं होने से लोग परेशान हैं। इस इलाके के लगभग 90 गांव के किसान खेतो की सिंचाई करने के लिए इसी नदी के पानी इस्तेमाल करते हैं, लेकिन पिछले 2 महीने से इस नदी में पानी नहीं होने से यहां के हजारों किसान बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: godavari has goes dry and fishes died without water

More News From national

IPL 2019 News Update
free stats