image

मुंबईः महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना प्रदेश में आसन्न विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ेंगे । इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी दावा किया कि विधानसभा चुनाव के बाद वह दोबारा मुख्यमंत्री बनेंगे। फडणवीस ने मीडिया में आयी उन खबरों को खारिज कर दिया जिसमें कहा गया था कि प्रदेश की 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा 162 सीटों पर जबकि शिवसेना 126 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

उद्धव ठाकरे ने इससे एक दिन पहले कहा था कि दोनों दल गठबंधन कर चुनाव लड़ेंगे और सीटों के बंटवारे के बारे में अगले दो दिनों में फैसला कर लिया जाएगा। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के लिए तारीखों का ऐलान हो चुका है और यहां एक ही चरण में 21 अक्टूबर को वोट डाले जायेंगे। मतगणना 24 अक्टूबर को होगी।

फडणवीस ने इंडिया टुडे कन्क्लेव 2019 को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मैं कह रहा हूं कि इसमें कोई अनिश्चितता नहीं है कि हम शिवसेना के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। सीटों के बंटवारे पर बातचीत जारी है, खबरों पर भरोसा मत करिये।’’ शिवसेना की बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने की मांग के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि सीटों के बंटवारे के बारे में विस्तृत जानकारी औपचारिक रूप से संवाददाता सम्मेलन में दी जाएगी। एक सवाल के जवाब में फडणवीस ने कहा कि भाजपा ने शिवसेना के लिए शर्तें नहीं रखी है और इस बारे में सौहार्द्रपूर्ण तरीके से निर्णय किया जाएगा ।

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में पार्टी की ओर की जाने वाली सरकार की आलोचनाओं के बारे में फडणवीस ने कहा, ‘‘मैं सामना नहीं पढ़ता हूं।’’ उन्होंने सामना का हवाला देते हुए कहा, ‘‘पिछले पांच साल में हुए किसी भी निर्णय के बारे में शिवसेना नेताओं की दूसरी राय नहीं बनी है। इसलिए, मुझे इस बात की कोई चिंता नहीं है कि बाहर क्या हो रहा है।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह दूसरी बार मुख्यमंत्री बनेंगे, फडणवीस ने जवाब दिया, ‘‘आपको क्या किसी प्रकार की शंका है।’’

उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में राजग सरकार के सत्ता में दोबारा लौटने पर युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे को उप मुख्यमंत्री बनाये जाने का निर्णय शिवसेना का होगा। मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि लोगों को लगता है कि भाजपा सत्ता में लौटेगी और वह मुंबई में काम करेंगे।

यह पूछे जाने पर कि राष्ट्रीय राजनीति में आपके शामिल होने के बारे में चर्चा चल रही है, फडणवीस ने कहा कि उनके लिए काम भाजपा तय करती है। भाजपा और शिवसेना ने 2014 का विधानसभा चुनाव अलग अलग लड़ा था और भाजपा को 122 सीट मिली थी जबकि शिवेसना को 63 सीट। बाद में दोनों पार्टी ने साथ में सरकार का गठन किया था।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: BJP, Shiv Sena to fight elections together, I will become chief minister again: Fadnavis

More News From maharashtra

Next Stories
image

free stats