image

मध्यप्रदेश: टीकमगढ़ की एक अदालत ने टयूशन पढ़ाने वाले एक शिक्षक को नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में आज 14 वर्ष के कारावास की सश्रम सजा सुनाई है। न्यायालय सूत्रों ने घटना के विवरण में बताया कि 23 मई 2016 को नाबालिग लड़की जेरोन थाना क्षेत्र के ग्राम जेरोन से घरेलू सामान लेकर अपने घर वापस लौट रही थी, तभी रास्ते में आरोपी शिक्षक नंदकिशोर कुशवाहा ने उससे कहा कि तुम्हारी कक्षा दसवीं की मार्कशीट आ गई है और ग्राम पृथ्वीपुर में उसके पास रखी है। मार्कशीट देने के बहाने आरोपी पीडिता को अपने साथ ले गया और वहां से बहला फुसलाकर उसे झांसी ले गया और बहां उसके साथ 4-5 दिनों तक डरा धमकाकर दुष्कर्म करता रहा।

किसी प्रकार मौका मिलते ही पीड़ति अपने गांव आई और अपनी मां को घटना की जानकारी दी। बाद में परिजनों के साथ उसने जेरोन थाने मे र्पिोट दर्ज कराई। विवेचना के बाद पुलिस ने दर्ज प्रकरण का चालान न्यायालय में पेश किया। न्यायालय तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश सचिन कुमार श्रीवास्तव ने प्रकरण प्रमाणित होने पर आरोपी शिक्षक नंदकिशोर कुशवाहा  को आज 14 वर्ष की सश्रम सजा घोषित कर जेल भेज दिया है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Minor raped in Madhya Pradesh

More News From madhya-pradesh

Next Stories
image

free stats