image

श्रीनगरः पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद लगातार देश के लोगों की मांग है कि आतंकियों को उनके कायराना हरकत का जवाब दिया जाए।देश में आक्रोश है और इस आक्रोश को सेना भली भांति जानती है। इसी के चलते पुलवामा अटैक की जांच तेजी से शुरु हो गई है। सेना ने अब आतंकियों के गढ़ को ढूंढ निकाला है।सेना अब आतंकियों को चुन चुन कर मारेगी। सेना ने पुलवामा के उस इलाके का फिर से निरिक्षण किया है, जहां पर हमला हुआ था। एनआईए की टीम दोबारा वहां पहुंच कर सब जांच कर रही है। सूत्रों की मानें तो सेना ने 25 किलोमीटर तक के दायरे में अपनी जांच बढ़ाई है। सेना को शक है कि इसी इलाके में आतंकियों का टेरर हॉट बेड है। यहीं से आतंकी अपनी आतंकी घटनाओं को अंजाम देते हैं। 

Jammu & Kashmir: A team of National Investigation Agency (NIA) reaches the site of #PulwamaAttack for further investigation. pic.twitter.com/PkTph1dfSk

— ANI (@ANI) February 16, 2019

Read More  पुलवामा अटैक के बाद अब भारत की बारी, संसद भवन में प्लानिंग शुरु

एनआईए की टीम दोबारा से उसी हमले वाली जगह पहुंची है, जहां पर आतंकियों ने हमले को अंजाम दिया। एनआईए की सारी टीम अब 20 से 25 किलोमीटर के दायरे में अपनी जांच कर रही है और इस इलाके में आतंकियों के हॉट बेड के बारे में पता करने की कोशिश की जा रही है। 

Read More  Pulwama Attack: 40 शहीदों में 4 पंजाब के, गांव-गांव में पसरा मातम

सुरक्षा बल पाम्पोर से पुलवामा के बीच मौजूद इन गांवो में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू कर चुके हैं. सुरक्षा बलों को पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड राशिद गाजी और कामरान की तलाश है। माना जाता है कि राशिद गाजी ने ही इस हमले में फिदायीन बने आदिल डार को विस्फोटक लगाने और उसे विस्फोट करने की ट्रेनिंग दी थी। अफगान में मजुाहिद्दीन रहा गाजी आईईडी एक्सपर्ट माना जाता है। खुफिया एजेंसियों की मानें तो 11 फरवरी को पुलवामा के रत्नीपुरा गांव में सेना के साथ मुठभेड़ में राशिद गाजी बचकर भाग निकला था। इस मुठभेड़ में एक स्थानीय आतंकी मारा गया था जबकि तीन आतंकी जान बचाकर भागे थे।

Read More  पुलवामा हमले पर सिद्धू के बयान से भड़के लोग, कपिल शर्मा को भी हो सकता है नुकसान

इस इलाके को जीरो-इन करने के लिए सेना और सुरक्षा एजेंसियों ने सुरक्षा बलों पर हुए पुराने हमलों को ध्यान में रखा है। इन हमलों को मैप पर डाला गया तो पता चला है कि 2014 से 2018 के बीच 20 से 25 किलोमीटर के इसी दायरे में कुल 10 हमले हुए हैं।

Read More मोदी ने सेना को दी खुली छूट, वक्त जगह और प्लान आर्मी करे तैयार

इस पुख्ता जानकारी मिलने के बाद NIA पुलवामा से पाम्पोर के बीच मौजूद 20 से 25 किलोमीटर के मोबाइल टॉवर से इलाके में किए गए संदिग्ध कॉल की डिटेल भी खंगाल रही है। एनआईए की टीम अब पाम्पोर से पुलवामा के बीच सेना के काफिले पर हुए 10 हमलों के तरीके को एग्जामिन कर रही है, ताकि इन हमलों के तार आपस में जोड़े जा सकें।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: NIA start investigation of Pulwama Attack

More News From national

Next Stories

image
free stats