image

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना के 40 जवान शहीद हो गए। बीते दिन भी पुलवामा में सेना के 4 जवान शहीद हो गए। शहीदों का बहता खून देख पूरा भारत गुस्से में आ गया है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले और उसके बाद चले एनकाउंटर को लेकर आज सुरक्षाबलों की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई। साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने जानकारी दी कि सुरक्षाबलों ने 100 घंटे के अंदर पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड कामरान को मार गिराया। उन्होंने यहां से घाटी के पत्थरबाजों को भी चेतावनी दी।

साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने कहा कि हम लोग पिछले काफी समय से जैश ए मोहम्मद के आतंकियों पर नजर बनाए हुए थे। जैश के आतंकियों ने ही पुलवामा में आतंकी हमला किया था। हमने पुलवामा हमले के 100 घंटे के अंदर घाटी में मौजूद जैश की लीडरशिप को खत्म कर दिया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में CRPF, जम्मू-कश्मीर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। इनमें चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजी ढिलन्न, श्रीनगर के आईजी एसपी पाणी, CRPF के आईजी जुल्फिकार हसन और GoC विक्टर फोर्स के मेजर जनरल मैथ्यू शामिल हुए।


उन्होंने जम्मू-कश्मीर की महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि वह अपने बच्चों को समझाएं और उन्हें सरेंडर करने को कहें। उन्होंने कहा कि सेना के पास सरेंडर पॉलिसी है, अब अगर जो भी सेना के खिलाफ बंदूक उठाएगा वो मारा जाएगा। उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि कोई भी नागरिक घायल हुए। सेना के अफसरों ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के पीछे ISI का हाथ था, उनकी मदद से ही जैश ने हमला किया था। लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने जम्मू-कश्मीर के पत्थरबाजों से अपील करते हुए कहा कि कोई भी नागरिक मुठभेड़ की जगह पर ना आए, ना ही मुठभेड़ के दौरान और ना ही बाद में। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर ऐसा होता है तो उन्हें भी एक्शन लेना होगा।

उन्होंने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान का बच्चा है, यहां कितने गाजी आए और कितने चले गए। पाकिस्तानी सेना और ISI जैश-ए-मोहम्मद को कंट्रोल कर रही है। पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड कामरान ही था, जिसे मार गिराया गया है।
उन्होंने आतंकियों को खुली चेतावनी दी और कहा कि जो भी आतंकी जम्मू-कश्मीर में घुसेगा, वह जिंदा नहीं बचेगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में कश्मीर IG एसपी पाणी ने कहा कि पिछले साल हमने जैश के 58 आतंकियों को मार गिराया था, इस साल भी 12 जैश आतंकियों को मौत के घाट उतारा गया है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Army warning to terrorists- The gun which will be lifted in Kashmir will be killed

More News From national

Next Stories
image

free stats