image

हिमाचल: मौसम विभाग के निदेशक सुरेन्द्र पॉल ने जानकारी देते हुए बताया कि हिमाचल में इस बार बारिश का रिकॉर्ड वर्ष 2011 के सबसे ज्यादा हुई। बीते दिनों हुई बारिश ने सभी नदी, नालो का पानी सतलुज में इक्कठा हुआ जिसकी वजह से बाढ़ जैसी स्तिथि पैदा हो गई। उन्होंने बताया कि 10 सितंबर तक कोई मेजर रेनफॉल नहीं है लेकिन हिमाचल में बारिश होती रहेगी। मौसम विभाग ने पहले अलर्ट जारी किया था, लेकिन मौसम में बदलाव के प्रेडिक्शन में भी चैलेंज पैदा हो गए है जिसकी वजह से सारी जानकारी मौसम विभाग नही दे पाता। 

भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन के कारण हिमाचल प्रदेश में भी सड़कों पर आवागमन बंद रहा। भारी भूस्खलन ने चंडीगढ़-मनाली राजमार्ग पर भी वाहनों की आवाजाही को प्रभावित किया। राज्य में बारिश के चलते हुए विभिन्न हादसों में कुल 22 लोगों की मौत हो गई ।राज्य में दो दिनों में सार्वजनिक और निजी संपत्ति दोनों का करीब 20 करोड़ रुपये का नुकसान होने का अनुमान है, अब तक कुल 547 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Rain in Himachal

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats