image

वुधवार को मौसम ने फिर आफत का रुप धारन किया है। हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में वुधवार को हिमस्खलन हुआ है। हिमस्खलन के कारण सेना के कई जवान फंस गए हैं। बुधवार को हुए इस हादसे में कुल फंसे 6 जवानों में से एक जवान शहीद हो गया। जबकि बाकी फंसे 5 जवान अभी भी मौत से जंग लड़ रहे हैं जिन्हें निकालने के लिए गुरुवार को एक बार फिर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा। ये सभी जवान भारत-चीन सीमा पर तैनात थे। आज गुरुवार को एक बार फिर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा। हालांकि, ये इतना आसान भी नहीं है क्योंकि इस समय किन्नौर जिले का तापमान -15 डिग्री पहुंच गया है। जबकि, लगातार हो रही बर्फबारी से वहां कई इंच तक बर्फ जमा हो गई है।

यहां पढ़ें... जम्मू-कश्मीर में 18 अलगाववादी और 155 नेताओं की हटाई सुरक्षा 

जिसकी वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में मशक्कत करनी पड़ रही है। रेस्क्यू ऑपरेशन में सेना, ITBP और BRO की मशीनें लगी हुई हैं, कुल 250 जवान इन जवानों को निकालने में मदद कर रहे हैं। बुधवार को हादसे के बाद किन्नौर के उपायुक्त गोपालचंद का कहना है कि एक जवान का शव बरामद हुआ है जबकि पांच अन्य का अब तक पता नहीं चला है। जिस जवान का शव मिला है, उसकी पहचान हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले के घुमारपुर गांव के रमेश कुमार (41) के रूप में हुई है। वह सेना की जम्मू कश्मीर राइफल्स में थे। यहां ग्लेशियर गिरने के कारण शिपकाला में देर रात हिमस्खलन आया, जिस वजह से जवान फंस गए। सेना के अधिकारी के मुताबिक, भारत तिब्बत सीमा पुलिस के कई जवान भी हिमस्खलन में फंस गये थे। उन्हें सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Heavy avalanche in Kinnaur, Himachal, 5 soldiers fighting for life

More News From national

Next Stories
image

free stats