image

शिमलाः हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के फोजल घाटी के एक गांव के श्मशान गृह का कथित तौर पर प्रयोग नहीं करने देने पर एक दलित परिवार को जंगल में बुजुर्ग महिला का अंतिम संस्कार करने पर मजबूर होना पड़ा। धारा गांव की निवासी करीब 100 साल की एक महिला का लंबी बीमारी के बाद बृहस्पतिवार को निधन हो गया था।

Read More  शोपियां में सेना का सर्च ऑपरेशन जारी, रामनवमी के दिन ढेर किए 2 आतंकी  

महिला के पोते टेप राम ने आरोप लगाया कि गांव के श्मशान गृह पर शव लेकर पहुंचने के बाद ऊंची जाति के कुछ लोगों ने वहां उन्हें प्रवेश नहीं करने दिया। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जहां टेप राम अपना बयान रिकॉर्ड कर रहा है और पीछे उसकी दादी का अंतिम संस्कार हो रहा है। 

Read More देश की बागडोर संभालते ही नए प्रमुख ने दिया इस्तीफा, सेना ने कही ये बात

टेप राम ने कहा, ‘‘उन्हें ऊंची जाति के लोगों ने कहा कि भगवान के प्रकोप के कारण अगर कुछ भी बुरा होता है तो हम लोग जिम्मेदार होंगे। इसलिए हम शव को पास के नाले ले आए और अंतिम संस्कार किया।’’ कुल्लू के उपायुक्त यूनुस से इस बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘मनाली के एसडीएम और डीसीपी से इस मामले को देखने के लिए कहा गया है।’’ 

Read More  जलियांवाला बाग कांड की 100वीं बरसी पर पीएम मोदी ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

उन्होंने कहा, ‘‘हम वायरल वीडियो में नजर आ रहे व्यक्ति की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं। हम तथ्यों की जांच के लिए ग्रामीणों से भी बात कर रहे हैं।’’ उपायुक्त ने कहा, ‘‘अब तक कोई भी सामने नहीं शिकायत दर्ज कराने आया है, हम सही सूचना हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Dalit family performed funeral in the forest in Himachal Pardesh

Next Stories
image

free stats