image

शिमलाः हिमाचल प्रदेश की भाजपा सरकार में विद्युत मंत्री अनिल शर्मा ने कहा है कि वह अपने बेटे आश्रय शर्मा के खिलाफ प्रचार नहीं करेंगे। शर्मा को मंडी से कांग्रेस उम्मीदवार घोषित किया गया है। आश्रय शर्मा को टिकट दिए जाने के एक दिन बाद अनिल शर्मा ने कहा कि वह अपने बेटे के खिलाफ प्रचार नहीं करेंगे।

Read More  जाते-जाते सरकारी खजाना खाली कर रही है मोदी सरकार: कांग्रेस

सुखराम के बेटे अनिल शर्मा मंडी विधानसभा से भाजपा विधायक हैं। मंडी विधानसभा क्षेत्र के अलावा 16 अन्य विधानसभा क्षेत्र मंडी संसदीय क्षेत्र में पड़ते हैं। मंडी लोकसभा सीट के अंतर्गत एक विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक होने की वजह से अनिल शर्मा से भाजपा उम्मीदवार रामस्वरुप शर्मा के समर्थन में और कांग्रेस उम्मीदवार के खिलाफ प्रचार किए जाने की उम्मीद की जा रही थी। 

Read More  लेट हो सकते हैं लोकसभा चुनावों के नतीजे, चुनाव आयोग ने बताई बड़ी वजह

अनिल शर्मा ने कहा, ‘‘मैंने मेरे पिता सुखराम और बेटे के 25 मार्च को कांग्रेस में फिर से शामिल होने के बाद भाजपा नेतृत्व को पहले ही बता दिया था कि यदि कांग्रेस आश्रय को टिकट देती है तो मैं उनके खिलाफ प्रचार नहीं करुंगा।’’  इस बारे में सवाल किए जाने पर हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा, ‘‘आप लोग क्यों इस मामले के पीछे पड़े हुए हैं? यह उनकेर् अनिल शर्मा केी परिवार का मामला है।’’  

Read More  नामांकन से पहले अमित शाह का मेगा रोड़ शो, सरदार पटेल को दी श्रद्धांजलि

उन्होंने कहा, ‘‘हम देखेंगे कि क्या करना है।’’  अनिल शर्मा ने कहा, ‘‘मैं मंडी के अलावा अन्य सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में प्रचार करने के लिए तैयार हूं।’’ शर्मा 1993 और 2012 में राज्य में वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकारों के दौरान मंत्री थे लेकिन अक्टूबर 2017 में विधानसभा चुनाव से पहले वह अपने पिता के साथ भाजपा में शामिल हो गए थे। आश्रय मंडी से भाजपा का उम्मीदवार बनना चाहते थे लेकिन भाजपा ने मौजूदा सांसद रामस्वरुप को टिकट दे दिया जिसके बाद आश्रय अपने दादा के साथ फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: BJP minister Anil Sharma will not campaign against his son whose contest from congress seat

More News From national

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats