image

शिमला: हिमाचल प्रदेश भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने कहा है कि मंडी संसदीय क्षेत्र से पार्टी के प्रत्याशी के खिलाफ बयानबाजी कर राज्य के पूर्व ऊर्जा मंत्री और पार्टी विधायक अनिल शर्मा ने पार्टी अनुशासन का उल्लंघन किया है तथा ऐसे में उन्हें पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे देना चाहिये। 

सत्ती ने आज यहां जारी एक बयान में कहा कि श्री शर्मा ने पुत्रमोह को पार्टी से ऊपर तरजीह देकर भाजपा के मूल सिद्धान्त ‘‘पहले देश, फिर पार्टी और अंत में परिवार‘‘ की भी अवेहलना  कर प्रदेश के लाखों कार्यकत्ताओं के दिलों को भी ठेस पहुंचाई है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में  शर्मा को पार्टी में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है और उन्हें  नैतिकता के आधार पर तुरंत पार्टी की सदस्यता से त्यागपत्र देना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि श्री शर्मा भाजपा के चुनाव चिन्ह पर  विधायक बने थे इसलिये जब उन्हें पार्टी पर विश्वास नहीं है तो उन्हें  विधायक पद से भी त्यागपत्र देकर नया जनादेश प्राप्त करना चाहिए। उन्होंने  कहा कि मंडी की जनता ने भाजपा पर भरोसा कर शर्मा को विधायक बनाया  और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने उन्हें मंत्री पद देकर मंडी की जनता के  प्रति अपना प्यार जताया था। लेकिन अनिल शर्मा ने परिवारवाद और पुत्रमोह में  फंस कर मंडी की जनता से विश्वासघात किया है। 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री शर्मा के पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम का पूरा परिवार शुरु से अवसरवाद की राजनीति करता रहा है और  विकास में रुची लेने के बजाय अपने परिवार के विकास में ही जुटा  रहा। उन्होंने कहा कि यह प्रदेश के इतिहास में एक मात्र एक ऐसा परिवार है जो  अब तक पांच बार दल बदल चुका है। जनता से ज्यादा अपने परिवार के प्रति  निष्ठा रखने वाले इस परिवार को जनता कभी माफ नहीं करेगी।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Anil Sharma resigns from party; Sukhram family has been party changed: Satpal Satti

Next Stories
image

free stats