image

महानगारों की तर्ज पर शिमला में भी लोग स्ट्रे डॉग को पालने के लिए आगे आ रहे है। फर्क सिर्फ इतना है कि महानगरों में जहां इस कार्य के लिए सामाजिक संस्थाएं आगे आती हैं वहीं नगर निगम शिमला ने इस तरह की पहल की है। नगर निगम शिमला नगर निगम की बैठक में लिए गए फैसले के सात दिन के बाद ही स्ट्रे डॉग्स को अडॉप्ट करने के लिए 10 आवेदक आगे आए हैं। नगर निगम आयुक्त पंकज राय ने आवेदन करने वाले लोगों के इस कदम की सराहना की है। हाल ही में नगर निगम शिमला के हाउस में इस बारे में योजना बनाई गई है। जिसमें हैल्थ ब्रांच और आयुक्त कार्यालय में कुत्ते को अडॉप्ट करने के लिए फार्म भरा जा सकता है। नगर निगम शिमला के निर्णय के अनुसार स्ट्रीट डॉग को पालने पर गारबेज फीस में 50 फीसदी छूट मिलेगी यानि कूड़ा उठाने के एवज में 80 की बजाय 40 रुपए ही देने होंगे। कुत्ते की रजिस्ट्रेशन की 500 रुपए की फीस भी निगम नहीं वसूलेगा। वहीं कुत्ते का इलाज निगम खुद करवाएगा।

गौर रहे कि शिमला शहर के साथ उपनगरों में लगातार स्ट्रे डॉग की सं या बढ़ रही है। निगम नसबंदी योजना के तहत इनकी सं या को नियंत्रित करने का प्रयास कर रहा है। जिसमें लोगों से भी सहयोग के लिए कहा गया है। बता दें कि नगर निगम शिमला आयुक्त की अध्यक्षता में वीरवार को डॉग अडॉप्शन प्रोग्राम के लिए एक बैठक आयोजित की गई। जिसमें निगम स्वास्थ्य अधिकारी, वैटेनरी पब्लिक हैल्थ ऑफिसर, डॉग सेंटर इंचार्ज उपस्थित रहे। इस बैठक में डॉग अडॉप्शन को लेकर बड़े स्तर पर कार्यक्रम आयोजित करने के बारे में भी निर्णय लिया गया। जिसमें स्ट्रे डॉग्स को अडॉप्ट करने के लिए सोश्ल मीडिया पर अभियान चलाया जाएगा। वहीं स्कूलों और वार्ड सभा में जागरूक किया जाएगा। इस दौरान पैम्पलेट भी बांटे जाएंगे। इस बैठक में निगम आयुक्त ने लोगों को स्ट्रे डॉग को अडॉप्ट करने के लिए आगे आने का आह्वान किया।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 10 families to handle abandoned dogs in Shimla

More News From himachal

Next Stories
image

free stats