image

गन्नौर : पॉलीथिन के प्रयोग को रोकने के लिए जहां सरकार विज्ञापनों के माध्यम से लाखों रुपए खर्च कर रही है वहीं गन्नौर में पॉलीथिन का प्रयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है। पिछले दिनों नपा द्वारा चलाए गए एक अभियान के तह्त दुकानदारों के काटे गए चालान के बाद भी प्रतिबंध पॉलीथिन के प्रयोग बगैर रोक-टोक के हो रहा है। पूर्ण रूप से अंकुश लगाने के लिए प्रशासन द्वारा सख्ती मात्र दिखावा बनती जा रही है। प्रकृति को बर्बाद करने वाली पॉलीथिन का प्रयोग धड़ल्ले से हो रहा है। इसके लिए प्रशासन द्वारा पॉलीथिन के प्रयोग पर दुकानदार व ग्राहक दोनों पर जुर्माना राशि तय की गई है, लेकिन इसे नजर अंदाज कर बाजारों व मंडियों में पालिथिन का प्रयोग बदस्तूर जारी है। वहीं दुकानदारों भी मानते है कि वे भी इसे बंद करने के पक्ष में है, लेकिन जब ग्राहक किसी प्रकार का थैला नहीं रखते तो पॉलीथिन में ही समान देना पड़ता है। 
क्या कहते है नपा के एस.आई. 
नगर पालिका के एस.आई. पोषण मलिक ने बताया कि पॉलीथिन का प्रयोग करने वाले दुकानदारों पर 5 हजार तक का चालान हो सकता है। उन्होंने दुकानदारों के चालान किए हैं। नगरपालिका नियमित रूप से चालान करना शुरू करेगी, ताकि इस पर पूरी तरह से रोक लगाई जा सके।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Use of polyethylene in city is not closed even after invoice

More News From haryana

Next Stories

image
free stats