image

गोहाना : हरिद्वार में गंगा स्नान करके लौट रहे एक ही परिवार के 6 युवकों में आपस में कहासुनी हो गई। पानीपत नैशनल हाईवे स्थित गांव शाहपुर के निकट एक युवक ने रिश्ते में अपने चाचा की चाकू घोंप कर हत्या कर दी। हत्या के मामले को सड़क हादसे में बदलने के लिए कार को सड़क किनारे एक पेड़ से भी टकरा दिया। आरोपी मृतक के शव को गोहाना के सरकारी अस्पताल में रखकर फरार हो गए। शहर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और आरोपियों को काबू करके उन्हें पानीपत में स्थित इसराना पुलिस के हवाले कर दिया। जींद जिले के जुलाना क्षेत्र में गांव करेला निवासी सुरेंद्र (30) पुत्र राजेंद्र जुलाना की अनाज मंडी में एक आढ़ती की दुकान पर मुनीम की नौकरी करता था। सुरेंद्र अपने परिवार से ही गांव निवासी प्रवीन पुत्र राजबीर, दिनेश उर्फ मोनू पुत्र बलवान, प्रदीप पुत्र राममेहर, सुरेंद्र उर्फ टीनू पुत्र महावीर, प्रवीन पुत्र जयभगवान के साथ 21 जून को कार में सवार होकर हरिद्वार गंगा स्नान करने गए थे।
 सोमवार रात को वे हरिद्वार से वापस लौट रहे थे, जब वे पानीपत के क्षेत्र गांव शाहपुर के समीप पहुंचे तो एक ढाबे के समीप कार रोक कर शराब का सेवन किया। इसके बाद उनमें कहासुनी हो गई। आरोप है कि सुरेंद्र उर्फ टीनू ने चाकू निकाल कर सुरेंद्र पर हमला बोल दिया। सुरेंद्र की मौके पर ही मौत हो गई।

टीनू मृतक का भतीजा है। पांचों आरोपी सुरेंद्र के शव को कार में डाल कर गोहाना के लिए चल पड़े। आरोपियों ने हत्या की घटना को सड़क हादसे में बदलने के लिए शहर में पानीपत रोड के किनारे एक पेड़ से कार को टकरा दिया। आरोपी सुरेंद्र के शव को शहर में बरोदा रोड स्थित सरकारी अस्पताल में रखकर फरार हो गए। बताया गया है कि एक आरोपी गांव खानपुर कलां स्थित बी.पी.एस. अस्पताल में जाकर दाखिल भी हो गया। अस्पताल के कर्मचारियों ने शहर थाना पुलिस को अज्ञात का शव अस्पताल पहुंचने की सूचना दी। इसके बाद शहर थाना के एस.एच.ओ. मिहपाल सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। शव को देखने के बाद मामला स्पष्ट हो गया।

शहर थाना पुलिस ने पांचों आरोपियों को काबू कर लिया। सूचना मिलने से पानीपत जिले से इसराना थाना की पुलिस मौके पर पहुंची। शहर थाना पुलिस ने आरोपियों को इसराना पुलिस को सौंप दिया। उधर पुलिस ने मृतक के शव का पोस्टमार्टम करा कर परिजनों को सौंप दिया। आरोपियों में सुरेंद्र उर्फ टीनू ने हरिद्वार से चाकू खरीदा था। पुलिस ने जब मृतक सुरेंद्र के शव की पड़ताल की तो उस पर तेजधार हथियार के जख्म मिले। इसके बाद पुलिस उस जगह पहुंची जहां कार पेड़ से टकराने की बात कही जा रही थी। कार पेड़ के पास खड़ी थी। कार का शीशा जरूर टूटा हुआ था लेकिन अन्य किसी से क्षतिग्रस्त नहीं थी। इस पर पुलिस का संदेह गहरा गया। इसराना थाने पुलिस ने मृतक सुरेंद्र के बयान पर गांव निवासी प्रवीन पुत्र राजबीर, दिनेश उर्फ मोनू पुत्र बलवान, प्रदीप पुत्र राममेहर, सुरेंद्र उर्फ टीनू पुत्र महावीर, प्रवीन पुत्र जयभगवान पर केस दर्ज कर उन्हें हिरासत में भी ले लिया है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Uncle knocked the knife to death

More News From haryana

Next Stories

image
free stats