image

चंडीगढ़ः हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने कहा है कि महिला सशक्तिकरण का संदेश देने के लिए राज्य में पहली बार प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में ‘सखी ‘ मतदान केंद्र बनाए जाएंगे जिनका संचालन केवल महिलाओं द्वारा किया जाएगा। 

रंजन ने आज यहां यह जानकारी देते हुये बताया कि इन मतदान केंद्रों पर कोई भी पुरुष कर्मी नहीं होगा। इससे यह संदेश देने का प्रयास किया जाएगा कि महिलाएं न केवल चुनाव में सक्रिय रुप से भाग ले सकती हैं बल्कि चुनाव का संचालन भी अच्छे तरीके से कर सकती हैं। उन्होंने बताया कि लोकतंत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए व्यापक कदम उठाए जा रहे हैं। महिलाओं का मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिये इन्हें निरंतर विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से जागरुक भी किया जा रहा है।

मुख्य चुनाव अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक मतदान केंद्र पर महिलाओं के लिए अलग लाइन की व्यवस्था होगी। जो महिलाएं प्रसव के नजदीक हैं और जो तीन साल से कम बच्चे के साथ मतदान करने आएंगी उन्हें वोट डालने में प्राथमिकता दी जाएगी। जिन मतदान केंद्रों पर लाइन में महिलाओं की संख्या 15 से ज्यादा होगी, वहां एक पुरुष के बाद दो महिलाओं को वोट डालने की सुविधा होगी। मतदान स्थल पर महिला शौचालय की भी व्यवस्था होगी।

उन्होंने कहा कि दिव्यांग महिलाओं के लिए मतदान केंद्र तक लाने और वापिस घर छोड़ने के लिए वाहन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। यदि किसी महिला को व्हीलचेयर की भी आवश्यकता होगी तो व्हीलचेयर भी उपलब्ध कराई जाएगी। विकलांगों के लिये प्रत्येक मतदान केंद्र पर रैम्प की व्यवस्था भी होगी।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: This special arrangement for women in this state will be held in Lok Sabha elections

More News From chandigarh

Next Stories

image
free stats