image

एक महिला द्वारा बच्चा पैदा होने के बाद ही उसे बेचने का मामला सामने आया है, जब इस बात का पता महिला के मायके वालों को पता लगा तो उन्होंने अपनी बेटी व दामाद की जमकर पिटाई की और उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने बच्चा लेने वाली महिला को भी थाने बुलाया है और उससे पूछताछ कर रही है। दंपति का कहना है कि उन्होंने बच्चा बेचा नहीं था बल्कि गोद दिया था। उनके पास तीन लडके व एक लड़की है। पांच बच्चों का पालन-पोषण नहीं हो पाता, इसलिए बच्चे को गोद दिया था।

IISC का बड़ा खुलासा, ध्यान देने में दिमाग का यह हिस्सा है जिम्मेदार!

पुलिस मामले की गहनता से छानबीन कर रही है। सांपला  थाना चौकी प्रभारी का कहना है कि दोनों पक्षों को बुलाया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस के अनुसार गांव ईश्रहेड़ी निवासी मनोज की शादी गांव खरमाण निवासी मंजू के साथ हुई थी। शादी के बाद मंजू को 5 बच्चे हुए और उसने पिछले साल एक लड़का पैदा होने के बाद अपने मायके में रहने वाली एक महिला को दे दिया। शनिवार शाम को इस बात का पता मंजू के मायके वालों का पता चला तो वह खेड़ी सांपला पहुंचे और किराए पर रह रहे मनोज व मंजू के साथ मारपीट की और बच्चा बेचने का आरोप लगाया।

Negativity से दूर रह इस तरह जिंदगी में सफल होती है सोनाक्षी, ये तरीका आपके लिए भी है लाजवाब

मायके वालों ने जमकर हंगामा किया, यह देखकर काफी संख्या में लोग एकत्रित हो गए और बच्चा चोर समझकर मनोज की जमकर धुनाई की। इसी दौरान सूचना मिलने पर सांपला पुलिस मौके पर पहुंची और मनोज व मंजू को थाने ले आई। गांव खरमाण से पहुंचे मंजू के मायके वालों ने थाने में भी अपनी बहन व जीजा पर बच्चा बेचने का आरोप लगाया, जबकि मंजू का कहना है कि उसने बच्चे को गोद दिया था। सांपला चौकी प्रभारी सुभाष का कहना है कि इस मामले में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता, मामले की जांच की जा रही है। गांव खरमाण से उक्त महिला को भी बुलाया गया है, जिससे मंजू ने अपना बेटा दे रखा है। जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि बच्चे का बेचा गया है या फिर गोद दिया गया था। पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Son sold soon after birth

Next Stories
image

free stats