image

जुलाना: शराब पर खर्च होने वाले रुपए बच्चों की शिक्षा पर खर्च हो और महिलाओं को सम्मान मिले इसके लिए भारत माता मिशन ने तैयारियों शुरू कर दी हैं। मुख्यमंत्री मनोहरल लाल बलियानी व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के गांव सांघी सहित 40 गांवों के लोगों ने गांव में शराब के ठेके नहीं खोलने के लिए फरफोरमा भर कर अपने हस्ताक्षर कर दिए हैं। इस काम में ज्यादातर हिस्सेतदारी 70 प्रतिशत महिलाओं की है। 40 गांवों का यह प्रारू प प्रशासन को भेजा जाएगा। इसके बाद इन गांवों में शराब के ठेके नहीं खोले जाएंगे। 

गांव में कुल मतदाताओं के 10 प्रतिशत लोग अगर ग्राम सभा कर फरमोरमा पर हस्ताक्षर कर विकास एवं पंचायत अधिकारी को सौंपेंगे तो गांव में शराब का ठेका नहीं खुलेगा यह फैसला सरकार ने पहली कैबिनेट की बैठक में लिया था। ग्रामसभा के 10 प्रतिशत लोग अगर लिखित में प्रस्ताव बीडीपीओ को भेजते हैं तो गांव में शराब का ठेका नहीं खुलेगा हरियाणा सरकार के इस फैसले पर मोहर लगाते हुए भारत माता मिशन ने गांव को नशे से दूर करने के लिए अभियान छेड़ दिया है। भारत माता मिशन नशे के खिलाफ इस अभियान की शुरुआत जुलाना ब्लॉक के 38 गांवों से कर चुका है। जुलाना खंड के सभी गांवों से 10 फीसदी से ज्यादा लोगों ने शराब को लेकर विरोध जताया है। अभियान को लेकर महिलाओं में उत्साह देखने को मिल रहा है। जुलाना के बाद सफीदों, नरवाना, उचाना, अलेवा में यह अभियान चलाया जाएगा।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Preparations to honor women and promote education by making the state drug-free

More News From haryana

Next Stories
image

free stats