image

रोहतक : पीजीआई के गायनी वार्ड से एक नवाज बच्ची को महिला चोरी कर ले गई। घटना का पता चलते ही पीजीआई प्रशासन में हडकंप मच गया और पीजीआई निदेशक सहित वरिष्ठ अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर जांच पडताल की। इस दौरान पता चला कि बच्ची चुराने वाली महिला सुबह से ही ताक में थी और जैसे ही उसे मौका मिला वह बच्ची को लेकर फरार हो गई। बताया जा रहा है कि प्रसूता अचानक बेसूध हो गई थी, जब उसे उसकी नंनद संभालने लगी तो बच्ची को उस महिला को दे दिया था, जिसे वह लेकर फरार हो गई। इससे करीब दो साल पहले भी प्रसूता विभाग से एक नवजात शिशु चोरी हो गया था, जिसका आज तक कोई सुराग नहीं मिला है और इस मामले में सरकार ने निदेशक तक की छुट्टी कर दी थी। साथ ही एक स्टाफ नर्स को गिरफ्तार कर कई डाक्टरों के खिलाफ कारवाई की गई थी और अभी मामले की जांच एसआईटी कर रही है। बच्ची चोरी की घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है और पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर महिला का पता लगाने में जुटी है, लेकिन अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। पीजीआई प्रबंधन का कहना है कि परिजनो की लापरवाही से नवजात बच्ची चोरी हुई है और प्रबंधन की इसमें कोई कोताई नहीं है। पुलिस मामले की जांच पडताल कर रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार वीरवार करीब सवा 12 बजे गांव मोहना निवासी मनीषा अपनी नवजात बच्ची व नंनद रिंकल के साथ वार्ड नंबर दो से बच्ची का आधार कार्ड बनवाने के लिए आ रही थी कि अचानक मनीषा को चक्कर का गया और वह बेसुध हो गई। इस दौरान बच्ची को रिंकल ने संभाल लिया। वहां काफी संख्या में अन्य महिलाएं एकत्रित हो गई और उनमें से एक महिला ने रिंकल को कहा कि बच्ची उसे दे दे और अपनी भाभी को संभाल ले। रिंकल ने बच्ची उस महिला को दे दी, जिसके बाद महिला बच्ची को लेकर फरार हो गई। कुछ देर बाद ही रिंकल ने देखा कि बच्ची नहीं है तो उसने वहां पर हंगामा कर दिया। पुलिस ने पीजीआई में लगी सीसीटीवी फुटेज खंगाली तो पता चला कि एक महिला बच्ची को वार्ड से लेकर गई है। पुलिस व सुरक्षा कर्मियों ने काफी स्थानो पर महिला व बच्ची की तलाश की, लेकिन उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। इसी दौरान पीजीआई निदेशक डा. रोहताश यादव भी मौके पर पहुंचे और परिजनों से बातचीत की। पीजीआई निदेशक ने इस बारे में डाक्टरों से भी बातचीत की और बताया कि मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है। पीजीआई द्वारा डिलवरी के बाद बच्ची को परिजनो को सौंप दिया था और उनकी लापरवाही से ही महिला बच्ची को लेकर गई है। पीजीआई प्रबंधन की इसमें कोई लापरवाही नहीं है। उन्होंने बताया कि सीसीटीवी फुटेज में यह भी सामने आया है कि महिला ने इसी दौरान बच्ची के कपड़े भी बदले है और वह कई बार लिफ्ट में ऊपर और नीचे गई है। बच्ची चोरी होने के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: PGI stole a newborn baby girl

IPL 2019 News Update
free stats