image

हिसारः हरियाणा में निजी गैर मान्यता वाले, अस्थाई मान्यता वाले निजी स्कूलों पर शिक्षा विभाग की तरफ से की जा रही तालाबंदी के विरोध में निजी स्कूल संचालकों ने 23 जुलाई, मंगलवार को यहां प्रदर्शन करने की घोषणा आज की।

यह निर्णय हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ की यहां हुई एक बैठक में लिया गया। बैठक को संबोधित करते संघ ब्लॉक हिसार प्रथम के अध्यक्ष राजेश सहरावत ने कहा कि सरकार व प्रदेश शिक्षा विभाग के अधिकारी अदालत की आड़ लेकर निजी स्कूलों को बंद करने के फरमान जारी कर भय का माहौल बना रहे हैं लेकिन शिक्षा विभाग के इस कदम को किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं किया जा सकता। 

उन्होंने कहा कि 23 जुलाई को हिसार जिले के सभी निजी स्कूलों में हड़ताल रहेगी। इसी दिन शिक्षा व स्कूल बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले सभी निजी स्कूल संचालक अपने स्टाफ सहित क्रांतिमान पार्क में इकट्टे होंगे और प्रदर्शन के बाद लघु सचिवालय जाकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया जायेगा।

उन्होंने कहा कि हरियाणा में सरकार बनने से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने घोषणा पत्र में नियमों में सरलीकरण कर निजी स्कूलों को स्थाई मान्यता प्रदान करने का वायदा किया था लेकिन अफसोस की बात है कि स्थाई मान्यता देना तो दूर की बात अभी तक मान्यता देने संबंधी नियमों का सरलीकरण भी नहीं किया गया है। 

उन्होंने कहा कि निजी स्कूल अदालत के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन प्रदेश सरकार विशेषकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से निजी स्कूलों को बचाने के लिए स्थायी समाधान निकालने भी भी मांग करते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को शिक्षा के अधिकार के तहत ‘एक कमरा एक क्लास‘ के अनुसार स्थायी मान्यता देने संबंधी अधिसूचना जारी कर अपना चुनावी वायदा पूरा करना चाहिए।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: On Tuesday, due to this, the school will remain closed in Haryana!

More News From haryana

Next Stories
image

free stats