image

कैथल: नगर पालिका कर्मचारी संघ ने नगर परिषद व जिला प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरकर रोष प्रदर्शन किया। संघ के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का आरोप था कि नगर परिषद व प्रशासन ने उनके साथ किए गए समझौते को लागू नहीं किया। खिलाफी और समझौते को लागू न करने के विरोध में शहर की मुख्य सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे। इसके बाद उन्होंने अपनी मांगों का एक ज्ञापन भी सौंपा। प्रदर्शन कमेटी चौक, पेहवा चौक व करनाल रोड से होते हुए लघु सचिवायल पहुंचा। इससे पहले सफाई, फायर, दफ्तर के सभी कच्चे व पक्के कर्मचारी नगर परिषद के प्रांगण में एकत्रित हुए। 

धरने की अध्यक्षता ब्लॉक प्रधान महेंद्र बिडलान ने की तथा मंच का संचालन इकाई सचिव विक्की टांक ने किया। सभा में बैठे कर्मचारियों को संबोधित करते हुए इकाई प्रधान महेंद्र बिडलान व वरिष्ठ उपप्रधान बिट्टू ने कहा कि 1 सितंबर से 13 सितंबर तक डोर-टू-डोर के हटाए हुए 100 कर्मचारियों ने धरना दिया। ब्लॉक कमेटी कैथल ने इन कर्मचारियों की नौकरी बहाली के लिए सीटीएम, एसडीएम, कार्यकारी अधिकारी व उपायुक्त को कई बार ज्ञापन दिए और 13 को जिला प्रशासन की मौजूदगी में नगर परिषद प्रशासन ने सभी कर्मचारियों को डयूटि पर वापिस लेने बारे ब्लॉक कमेटी की पदाधिकारियों के साथ समझौता किया। 

इसके बाद इन कर्मचारियों ने अपना आंदोलन वापस ले लिया। अब ये कर्मचारी अपने कार्य पर जाने के लिए 2 दिनों से नगर परिषद कार्यालय पर अधिकारियों व ठेकेदारों का इंतजार कर रहे हैं लेकिन अब ठेकेदार सभी कर्मचारियों को ड्यूटी पर वापस लेने में आना-कानी कर रहे हैं। इसको लेकर कर्मचारियों में भारी गुस्सा है। ज्ञापन के माध्यम से नगर परिषद व जिला प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर आज शाम तक सभी कर्मचारियों को ड्यूटी पर वापिस नहीं लिया गया तो ब्लॉक कमेटी 17 सितंबर को बड़ा आंदोलन करने पर मजबूर होगी। प्रदर्शन में मुख्य रूप से जगदीश कुमार, राजेंद्र टांक, लक्की, चाहत, रामदेव, अमित, सुमेश राणा, शिवचरण, कृपाल गिल, फायर से राजेंद्र सिणद, शमशेर, सुरेंद्र, महिन्द्रो देवी, सरोज, राकेश बिडलान आदि शामिल थे।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Municipal Employees Union anger

Next Stories
image

free stats