image

हिसार: बरवाला की एसडीएम शालिनी चेतल ने उपमंडल के तहत आने वाले गांवों के नंबरदारों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि गांव के मौजिज व्यक्ति होने के नाते नंबरदार अपने-अपने क्षेत्र में पराली जलाने की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए प्रशासन के साथ सहयोग करें। इस संबंध में माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार पराली जलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है और इसके जिम्मेदार अधिकारियों-कर्मचारियों व सरंपच-नंबरदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा सकती है। एसडीएम शालिनी चेतल ने कहा कि जिलाधीश अशोक कुमार मीणा ने धारा-144 लागू करते हुए जिला में पराली जलाने पर पूर्ण प्रतिबंध लागू कर रखा है।

इसके साथ ही माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने भी पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए विशेष आदेश जारी किए हैं। न्यायालय ने पराली जलाने के दोषी व्यक्तियों के साथ-साथ इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों कर्मचारियों व सरपंच-नंबरदार को भी अपनी जिम्मेदारी निभाने के आदेश दिए हैं। इसके मद्देनजर पराली जलाने के दोषी व्यक्तियों पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जा रही है व जुर्माना लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि खेत में फसल अवशेषों में आग पर रोक लगाने के कार्य में गांव के नंबरदार महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। नंबरदार गांव के किसानों व ग्रामीणों को समझाएं कि वे पराली को आग न लगाएं। इसके बावजूद यदि कोई व्यक्ति फसल अवशेषों को आग लगाता है तो उसकी सूचना प्रशासन को दें ताकि संबंधित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सके। इस मामले में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बैठक में तहसीलदार, नायब तहसीलदार व अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Legal action will be taken against those who burn stubble

More News From haryana

Next Stories
image

free stats